भावान्तर योजना में अधिकाधिक किसानों का पंजीयन कराएं : श्री मीना

www.krishakjagat.org
Share

(विशेष प्रतिनिधि)
भोपाल। प्रदेश के किसानों को मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना की अधिक से अधिक जानकारी देकर पंजीयन कराने के लिए प्रेरित करें, साथ ही किसानों की आय दोगुना करने के लिये जिलेवार रणनीति बनाकर कार्य करें। यह निर्देश कृषि उत्पादन आयुक्त श्री पी.सी.मीना ने भोपाल – नर्मदापुरम् संभाग की संभागीय बैठक में दिए।
उन्होंने कहा कि इस योजना की सफलता के लिये पंजीयन तिथि बढ़ाई गई है। किसानों का पंजीयन अब उपार्जन केंद्रों के साथ-साथ कृषि उपज मंडी तथा नागरिक सेवा केंद्रों में भी हो सकेगा। श्री मीना ने कहा कि किसानों को उचित गुणवत्ता का कृषि आदान उपलब्ध कराने के लिये अमानक खाद, बीज व कीटनाशक विक्रेताओं के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें। उन्होंने कलेक्टर्स को नरवाई जलाने पर सख्ती से रोक लगाने के निर्देश दिए।

 खास बात
  • अमानक कीटनाशक विक्रेताओं पर कड़ी कार्यवाही
  • फसल कटाई पारदर्शी हो
  • किसानों को मिलेगा रुपे कार्ड
  • कम पानी वाली फसलें लगाएं

प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा ने सभी कलेक्टर्स से कहा कि फसल कटाई प्रयोग के फोटो ऑनलाईन अपलोड करने पर ही किसानों को फसल बीमा का लाभ मिल सकेगा। भारत सरकार द्वारा इसे अनिवार्य किया गया है। उन्होंने निर्देश दिए कि फसल कटाई प्रयोग पारदर्शी तरीके से किये जायें, किसानों को इसकी जानकारी रहे। उन्होंने बताया कि आगामी 1 जनवरी 2018 से कृषि विभाग की योजनाओं में डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर पद्धति से अनुदान संबंधित किसानों को दिया जायेगा। उन्होंने किसानों को खाद का अग्रिम भंडारण करने के लिये जागरूक किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया।
प्रमुख सचिव सहकारिता श्री के.सी. गुप्ता ने कहा कि सभी किसान क्रेडिट कार्डधारकों को शीघ्र ही रूपे कार्ड उपलब्ध कराये जायेंगे। किसानों को सहकारिता से जोडऩे के लिये नवीन सदस्यता अभियान प्रारंभ किया गया है। उन्होंने अधिक से अधिक किसानों को सहकारिता से जुडऩे के लिये प्रेरित किए जाने की आवश्यकता बताई।
संभागायुक्त भोपाल संभाग श्री अजात शत्रु श्रीवास्तव ने बताया कि अल्पवर्षा की स्थिति को देखते हुए किसानों को कम पानी वाली फसल लेने के लिये सलाह दी जा रही है। उन्होंने बताया कि संभाग में खाद-बीज की कोई कमी नहीं है।
संभाग में 78 हजार से अधिक किसानों ने भावांतर भुगतान योजना में अभी तक अपना पंजीयन कराया है। बैठक में प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड श्री फैज अहमद किदवई प्रबंध संचालक मार्कफेड श्री ज्ञानेश्वर पाटिल, संचालक कृषि श्री मोहनलाल सहित दोनों संभागों के कमिश्नर कलेक्टर तथा संभाग एवं जिलों के अधिकारी उपस्थित थे।

किसानों का पंजीयन 15 अक्टूबर तक
भावांतर भुगतान योजना-खरीफ 2017 के लिए किसानों का पंजीयन अब 15 अक्टूबर तक होगा। राज्य शासन द्वारा पूर्व में भावांतर भुगतान योजना के पोर्टल पर किसानों का पंजीयन 11 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक करने के निर्देश दिये गये थे।
www.krishakjagat.org
Share
Share