किसानों को श्रेष्ठ और गुणवत्तापूर्ण आदान देंगे

इंदौर। बीज एवं कीटनाशक विक्रेताओं के बीच ऐसी पारदर्शी और व्यवहारिक व्यवस्था होनी चाहिए कि किसी भी व्यापारी का लायसेंस निरस्त न हो। हम लोग ऐसे व्यवसाय से जुड़े हैं, जो देश को आर्थिक समृद्धि की ओर ले जाता है। यह सोचने की बात है कि जितनी अच्छी फसल होगी, हमारा कारोबार भी उतना ही अच्छा होगा। कोशिश यह होना चाहिए कि किसानों को श्रेष्ठ और गुणवत्तापूर्ण बीज, कीटनाशक एवं उर्वरक मिलते रहें। कृषि विकास विभाग के संयुक्त संचालक श्री आर.एस.सिसौदिया ने जाल सभागृह में म.प्र. बीज एवं कीटनाशक विक्रेता संघ द्वारा आयोजित तकनीकी कार्याशाला एवं वार्षिक मिलन और सम्मान समारोह में उक्त विचार व्यक्त किए। महापौर श्रीमती मालिनी गौड़ के मुख्य आतिथ्य, कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ. वी.के. स्वर्णकार, राज्य कृषि विस्तार प्रशिक्षण केन्द्र भोपाल के संयुक्त संचालक उत्तमसिंह जादौन, उपसंचालक विजय चौरसिया के विशेष आतिथ्य में आयोजित इस कार्यशाला में राज्य के बीज एवं कीटनाशक विक्रेता, अधिकारी और कृषि क्षेत्र से जुड़े अन्य लोग शामिल हुए। प्रारंभ में संघ के अध्यक्ष सर्वश्री दिलीप बाकलीवाल, सचिव पारस जैन, राजेन्द्र नागर, दीपक त्रिवेदी, सागर जैन, लक्ष्मीनारायण पटेरिया आदि ने आतिथियों का स्वागत किया।

इंदौर में कार्यशाला एवं सम्मान समारोह

प्रारंभिक तकनीकी सत्र में श्री जादौन ने कहा कि राज्य शासन द्वारा जल्द ही एक राज्य स्तरीय तकनीकी कार्यशाला आयोजित की जा रही है जिसमें सभी लायसेंसधारी व्यापारी भी शामिल हो सकते हैं।
कृषि महाविद्यालय डीन डॉ.वी.के. स्वर्णकार ने प्रशिक्षण के लिए हॉल उपलब्ध कराने की घोषणा की। कृषि उपंसचालक श्री विजय चौरसिया ने भी सहयोग का आश्वासन दिया। इस अवसर पर कृषि विभाग के सेवानिवृत्त अधिकारी श्री बी.डी. त्यागी एवं श्री डी.आर.पटेल का शॉल-श्रीफल से सम्मान भी किया गया। आभार श्री प्रहलाद मिश्रा ने दिया।

www.krishakjagat.org
Share