समस्या- सिंचित गेहूं में खरपतवार विशेष कर बथुआ का प्रकोप बहुत होता है, नियंत्रण के उपाय बतायें।

समाधान- आपका क्षेत्र गेहूं धान वाला क्षेत्र है जिसमें बथुआ की समस्या बहुत आती है। इसके नियंत्रण के लिये समय सीमा का बहुत महत्व है यदि समय से निंदाई और खरपतवारनाशी का उपयोग नहीं किया गया हो तो खर्च व्यर्थ सिद्ध होता है। चौड़ी पत्ती वाले खरपतवारों के समय से नियंत्रण किये जाने से फसल को पोषक तत्वों को होने वाले बंटवारे से निजात मिल जाती है। आप कृपया निम्न करें।
  • बुआई के 30-35 दिनों के भीतर ही एक निंदाई हाथों से वो भी दो पौधों के बीच में छुपे खरपतवारों को निकालें।
  • एक स्प्रे 2-4 डी सोडियम साल्ट 80 प्रतिशत की 500-700 ग्राम मात्रा प्रति हेक्टर की दर से छिड़काव करें।
  • इसके अलावा पेन्डीमिथालिन का 1000 ग्राम/हेक्टर की दर से छिड़काव किया जा सकता है।
शिव शंकर पटेल, सिवनी

www.krishakjagat.org
Share