समस्या- चने की इल्ली के प्रभावी नियंत्रण के लिये कौन – कौन से कदम उठाना चाहिये ताकि हानि से बचा जा सके।

समाधान – चना आपके क्षेत्र की प्रमुख रबी फसल है और चने की इल्ली से पूर्व में हर वर्ष अच्छा खासा संघर्ष करना पड़ता था जब जाकर चना बच पाता है। वर्तमान में इल्ली के प्रभावी नियंत्रण के लिये एकीकृत कीट नियंत्रण के बिंदुओं की परख हो चुकी है। आप भी निम्न बिंदुओं को अपनाकर हानि से बच सकते हैं।

  • खेत में पनपते सोयाबीन के पौधों को तुरन्त उखाड़ कर चारे जैसा उपयोग कर लें ऐसा करने से चने की मादा को अंडे देने से रोका जा सकता है।
  • खेत में जगह-जगह टी आकार की खूटियां लगा दें ताकि चिडिय़ा/मिट्ठू उस पर बैठकर इल्लियों को खा सकें।
  • इल्ली की प्रथम अवस्था पर पहले जैविक कीटनाशी का उपयोग करें।
  • चने की पत्तियों की तुड़ाई करें।
  • इल्ली दिखने पर यदि हानि के स्तर से ऊपर अर्थात् 3 इल्ली प्रति मीटर कतार में दिखे और चने की घेटियां बनना शुरू हो गई हो तो एक छिड़काव प्रोफेनोफॉस 50 ई.सी. 1.5 लीटर या क्विनालफॉस 25 ई.सी. 1 लीटर 500-600 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।

प्रभुदयाल शर्मा, पिपरिया

www.krishakjagat.org
Share