wheat

समस्या- गेहूं की बुआई कब करनी चाहिये कौनसी जाति अच्छी है।

समाधान- गेहूं की बुआई ही यदि उचित समय से की जाये तो उसके परिणाम अच्छे निकलते हैं, होता यह है कि बुआई ‘लड़य्या दौड़Ó में कृषक समय से पहले भूमि में नमी जाने की चिंता में बोनी कर देता है। कहीं-कहीं तो यह भी देखा गया है कि असिंचित वर्षा आधारित खेत में सिंचित अवस्था में बोई जाने वाली विकसित जातियों की बुआई कर दी गई। परिणामस्वरूप अल्प समय में बालियां निकलने की समस्या भी देखी गई है। देशी घी यदि घर में जमने लग जाये तब गेहूं की बुआई का वातावरण बन गया है ऐसा माना जाता है इस समय सही तापमान रहता है अंकुरण अच्छा हो जाता है और पौधे स्वस्थ निकलते हैं। आपने यह नहीं लिखा कि किस परिस्थिति के लिये गेहूं की जाति का नाम आप चाह रहे हैं खैर आपकी सहूलियत के लिये हम सभी परिस्थितियों के लिये उपयुक्त जातियों के नाम बता देते हैं।

  • वर्षा आधारित तथा अर्धसिंचित अवस्था के लिये सुजाता जे.डब्ल्यू.17, एच.डब्ल्यू 2004, एच.आई.1500, जे.डब्ल्यू-3020 तथा एच.आई 1531 इत्यादि।
  • पूर्ण सिंचित के लिये जी.डब्ल्यू-173, जी.डब्ल्यू 322, जी.डब्लू.1142, एम.पी.ओ.1106 इत्यादि।
  • पिछेती बुआई हेतु जी.डब्ल्यू 273, एच.आई. 1454, एच.आई.1418, एच.डी.2864,डे.डब्ल्यू.3336 इत्यादि

www.krishakjagat.org
Share