समस्या- मैं अनार की खेती करना चाहता हूं, कृपया विस्तार से तकनीकी बतायें।

www.krishakjagat.org
Share

रामसिंह पटेल, धार
समाधान- अनार एक प्राचीन फल है इसका रस लाभकारी होता है तथा स्वास्थवर्धक होता है। आप भी अनार लगायें। शासन द्वारा भी अनार लगाने के लिये अनुदान की पात्रता है। आप अपने जिले के उपसंचालक उद्यानिकी से सम्पर्क करें। तकनीकी इस प्रकार है-

  • यह विभिन्न प्रकार की जलवायु तथा भूमि में लगाया जा सकता है। गहरी काली मिट्टी अधिक उपयुक्त है।
  • 10 डिग्री से कम तापमान वाले क्षेत्रों में यह फल नहीं हो पाता है।
  • जातियों में घोलक, अलोडी, अजेनिश रूबी, पेपर शेल इत्यादि उत्तम है।
  • ग्रीष्मकाल में 60&60 लम्बे – चौड़े तथा गहरे गड्ढे बना लें। मिट्टी खाद बराबर की मात्रा में मिलाकर गड्ढे में भर दें।
  • पौध लगाते समय 25 किलो गोबर खाद, 200 ग्राम अमोनियम सल्फेट, 180 ग्राम सिंगल सुपर फास्फेट तथा 50 ग्राम म्यूरेट आफ पोटाश डालें।
  • फलदार पौधों को 45 किलो गोबर खाद, 500 ग्राम अमोनियम सल्फेट, 400 ग्राम सिंगल सुपर फास्फेट तथा 150 ग्राम म्यूरेट ऑफ पोटाश वार्षिक रखरखाव के बतौर डालें।
  • बोर्डो पेस्ट के घोल से पौधों के तनों पर लेप करते रहें।
  • पौध लगाने के तीन वर्ष बाद फल आने शुरू होते हैं।
  • 100 से 175 फल /पौध मिल जाते हैं।
www.krishakjagat.org
Share
Share