समस्या -मैं कुछ उपयोगी वृक्ष जैसे बबूल, नीलगिरी, शीशम लगाना चाहता हूं कुछ अन्य उपयोगी जमीन मेरे पास है, मार्गदर्शन करें।

मनमोहन ठाकुर, मुरैना
समाधान- वास्तव में यह महिना कृषि वानिकी को विस्तार देने के लिये उपयुक्त रहता है परंतु मानसून की बेरूखी से अन्य कृषि कार्यों सहित यह वानिकी का कार्य भी हाथ में यदि लेना हो तो पौधों की परवरिश पर प्रश्न चिन्ह लगा रहेगा फिर भी आपने पूछा है तो आपको बता दें कि आप नीलगिरी, बबूल, शीशम के पौधे लगा सकते है। इनकी लकड़ी उपयोगी होती है बबूल तथा शीशम तो कृषि यंत्रों को बनाने के लिये भी उपयोगी होती है। नीलगिरी का पौधा सीधा बढ़ता है उसकी बल्लियां घरों में लगाने के लिये उपयोगी होती हंै। आप नीम के पौधे भी लगा सकते हैं बबूल की कोमल पत्तियों बकरियों के लिये खाने में उपयोग किया जा सकता है। नीलगिरी को 10×10 फीट दूरी पर, बबूल तथा शीशम को 15×15 फीट पर गड्ढे बनाकर लगाया जा सकता है। गड्ढ़े 1 x 1 x 1 फीट लंबे, चौड़े तथा गहरे बनाये जाये तथा उनमें गोबर खाद भरी जाये। दीमक से बचाने के लिये 5 ग्राम क्लोरोपायरीफास प्रति गड्ढे में डालें।

www.krishakjagat.org
Share