समस्या- गेहूं में पहली बार नींदा नियंत्रण के लिए नींदानाशक का प्रयोग करना चाहता हूं, परामर्श दीजिए।

www.krishakjagat.org
Share

समाधान

  • गेहूं में दोनों सकरी तथा चौड़ी पत्ती वाले खरपतवार/ नींदा आते हैं।
  • संकरी पत्ती वाले नींदा में जंगली जई, चिरैया बाजरा, दूब व कांस प्रमुख हैं। चौड़ी पत्ती में बथुआ, दूधी, हिरनखुरी, कटेली, सेजी, कृष्णनील, अकरी आदि प्रमुख है।
  • आपके खेत में कौन -कौन से नींदा की बहुलता है। उस आधार पर नींदानाशक का चयन करना होगा।
  • यदि दोनों प्रकार के नींदा आपके गेहूं के खेतों में आते हैं तो पेन्डामेर्थिन 30 ईसी के 3.3 लीटर को 500-600 लीटर पानी में घोल कर बुआई के तुरन्त बाद से 3 दिन के अंदर से छिड़काव करें। यह संकरी तथा चौड़ी दोनों प्रकार की नींदा को नियंत्रित करेगा।
  • यदि आपकी फसल में संकरी पत्ती वाले नींदा हो तो आइसोप्रोट्यूरॉन 75 की एक किलो ग्राम- 500-600 लीटर पानी में मिलाकर छिड़कें।
  • यदि दोनों प्रकार के नींदा आते हो तो आइसोप्रोट्यूरान में 250 ग्राम 2-4 डी सोडियम लवण 30 प्रतिशत मिलाकर बुआई के 30 दिन के अंदर छिड़कें। इसके अतिरिक्त सल्फोसल्फ्यूरॉन 25 ग्राम प्रति हेक्टर का भी उपयोग किया जा सकता है।

नींदानाशक के उपयोग में निम्न सावधानी अवश्य रखें।

  • छिड़कते समय भूमि में पर्याप्त नमी अवश्य रहे।
  • फ्लेट फेन या प्लेट जेट नोजल का ही पयोग करें।
  • स्प्रे पूरे क्षेत्र में अच्छी तरह व एक समान हो।
  • स्प्रे खुले सूखे मौसम में करें।

संदीप राजपूत,बुदनी,
रात्तोवाडी, सीहोर

www.krishakjagat.org
Share
Share