ऑक्सीटोसीन पर प्रतिबंध जुलाई से

नई दिल्ली। जुलाई से किसी भी निजी निर्माता को घरेलू उपयोग के लिए ऑक्सीटोसीन निर्माण की अनुमति नहीं होगी। ऑक्सीटोसीन स्वाभाविक रूप से बनने वाला हॉर्मोन है जिससे प्रसव के दौरान पीड़ा कम करने और नव प्रसूताओं में दूध बनने की क्षमता बढ़ती है। लेकिन डेयरी उद्योग में इसका व्यापक दुरुपयोग होता है जहां पशुओं को ऑक्सीटोसीन देकर किसान अपनी सुविधा के मुताबिक दूध हासिल करते हैं। इस हॉर्मोन का इस्तेमाल सब्जियों का आकार बढ़ाने में भी किया जाता है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने घरेलू उपयोग के लिए ऑक्सीटोसीन निर्माण को केवल सार्वजनिक क्षेत्र तक सीमित कर दिया है।

www.krishakjagat.org
Share