बेमौसम बारिश से गेहूं फसल को हुआ नुकसान

Share

9 मार्च 2022, इंदौर । बेमौसम बारिश से गेहूं फसल को हुआ नुकसान – गत दो दिनों से पश्चिमी मप्र में हो रही बेमौसम बारिश से मालवा -निमाड़ के उज्जैन, धार, खरगोन ,खंडवा ,बुरहानपुर ,रतलाम, नीमच जिलों के कुछ गांवों में गेहूं की फसल को नुकसान होने की जानकारी मिली है। मौसम के बदले मिजाज ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया है।

अपनी पीड़ा बताते हुए ग्राम अमला तहसील बड़नगर जिला उज्जैन के किसान श्री बालाराम गौड़ ने कृषक जगत को बताया कि परसों तेज़ हवा के साथ आधा घंटा तेज़ बारिश हुई और ओले भी गिरे इससे 12 बीघे में खड़ी गेहूं की फसल आड़ी पड़ गई। इससे बहुत नुकसान हुआ है।  यह फसल  एक माह बाद पकने वाली थी। अभी तो बालियाँ हरी ही है। मेरे अलावा गांव के ही कई किसानों की फसल भी प्रभावित हुई है। लघु कृषक श्री सुरेंद्र हारोड़ और श्री शांतिलाल डोडिया की भी गेहूं की फसल आड़ी पड़ गई। गांव के पटवारी क्षतिग्रस्त फसल की फोटो खींचकर ले गए हैं और सर्वे करवाने की बात कही है। बैंक से फसल बीमा की प्रीमियम काटी गई है। देखते हैं सर्वे के बाद क्या होता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मालवा -निमाड़ से भी गेहूं की फसल की बर्बादी की खबरें आ रही है। धार जिले के बदनावर क्षेत्र में 300 हेक्टेयर की फसल खराब होने की बात कही जा रही है ,वहीं खरगोन /खंडवा जिले में भी गेहूं की खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा है। नीमच में तेज़ बारिश और ओलावृष्टि से रबी फसलों को नुकसान पहुंचा है। रतलाम जिले में तो खेतों में काटकर रखी गई गेहूं की फसल भीग गई।  इस कारण गेहूं की गुणवत्ता पर असर पड़ेगा , जिससे दाम कम मिलने की आशंका रहेगी।

महत्वपूर्ण खबर: महिला कृषि वैज्ञानिकों ने विश्वभर में अपनी छाप छोड़ी है- डॉ. बिसेन

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.