राज्य में खरीफ फसलों की बुआई 45 लाख हेक्टेयर पार

Share

धान की बोनी पूरी 

30 अगस्त 2021, रायपुर । राज्य में खरीफ फसलों की बुआई 45 लाख हेक्टेयर पार – राज्य में खरीफ फसलों की बुआई का अंतिम चरण की ओर है। कृषि विभाग से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 28 अगस्त तक धान, अन्य अनाज के फसलों सहित तिलहन और साग-सब्जी की बुआई 45 लाख 62 हजार 530 हेक्टेयर में हो चुकी है, जो कि चालू खरीफ सीजन के लिए निर्धारित बोआई के लक्ष्य का 95 प्रतिशत है। अब तक राज्य में 37 लाख 12 हजार 690 हेक्टेयर में धान की बोता एवं रोपा बोनी हो चुकी है, जो कि चालू खरीफ सीजन के लिए निर्धारित लक्ष्य का शत-प्रशित है। राज्य में चालू खरीफ सीजन में अब तक 2 लाख 85 हजार 610 हेक्टेयर में अन्य अनाज की फसलों सहित 2 लाख 82 हजार 380 हेक्टेयर में दलहन, एक लाख 53 हजार 820 हेक्टेयर में तिलहनी तथा 1 लाख 18 हजार 30 हेक्टेयर रकबे में साग-सब्जी एवं अन्य फसलों की बुआई पूरी कर ली गई है।

    राज्य में खरीफ सीजन 2021 में 48 लाख 20 हजार हेक्टेयर रकबे में खरीफ फसलों की बुआई का लक्ष्य है, जिसमें धान सहित अन्य अनाज की फसलों के लिए 40 लाख 55 हजार 490 हेक्टेयर, दलहन के लिए 3 लाख 76 हजार 670 हेक्टेयर, तिलहन के लिए 2 लाख 55 हजार 490 हेक्टेयर में तिलहन तथा साग-सब्जी एवं अन्य फसलों की खेती के लिए एक लाख 32 हजार 340 हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित है। निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध अब तक धान की बोता-बोनी 25 लाख 77 हजार 880 हेक्टेयर में की जा चुकी है, जो कि निर्धारित लक्ष्य का 101 प्रतिशत है। इसी तरह राज्य में 11 लाख 3 हजार 810 हेक्टेयर में धान का रोपा लगाया गया है, जो निर्धारित लक्ष्य का 100 प्रतिशत है। धान की बोता और रोपा बोनी को मिलाकर कुल 37 लाख 12 हजार 690 हेक्टेयर में धान की बुआई हो चुकी है, जो कि चालू खरीफ सीजन के लिए धान की बोनी के लक्ष्य का 100 प्रतिशत है। राज्य में दलहन फसलों की बोनी के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 75 प्रतिशत, तिलहन की 60 प्रतिशत तथा साग-सब्जी एवं अन्य फसलों की 89 फीसद बोनी पूरी हो चुकी है।

9 लाख क्विंटल बीज वितरित 

खरीफ सीजन 2021 में राज्य के किसानों को सरकारी समितियों एवं निजी क्षेत्र के माध्यम से प्रमाणिक बीज उपलब्ध कराए जा रहे हैं। अब तक किसानों को विभिन्न खरीफ फसलों के 9 लाख 8 हजार 774 क्विंटल प्रमाणिक बीज प्रदाय किए जा चुके है, जो कि 9 लाख 62 हजार 41 क्विंटल भण्डारित बीज का 94 प्रतिशत है।     गौरतलब है कि राज्य में खरीफ की विभिन्न फसलों के बीज की कुल मांग 11 लाख 7 हजार 989 क्विंटल के विरूद्ध 11 लाख 81 हजार 129 क्विंटल बीज की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली गई है। जिसमें से 9 लाख 62 हजार 41 क्विंटल से अधिक बीज का भण्डारण किया जा चुका है, जो निर्धारित लक्ष्य का 87 प्रतिशत है। किसानों को अब तक 9 लाख 8 हजार 774 क्विंटल बीज का वितरण किया जा चुका है।

11 लाख मीट्रिक टन खाद का वितरण

राज्य में खरीफ सीजन 2021 के लिए भारत सरकार द्वारा रासायनिक उर्वरक के लिए अनुमोदित लक्ष्य 11 लाख 75 हजार मीट्रिक टन के विरूद्ध अब तक 8 लाख 50 हजार  581 मीट्रिक टन के रासायनिक उर्वरक की आपूर्ति की गई है, जो कि अनुमोदित लक्ष्य का 72 प्रतिशत है।
खरीफ सीजन 2021 के लिए राज्य में कृषकों को 28 अगस्त तक 11 लाख 28 हजार 790 मीट्रिक टन उर्वरक का वितरण किया जा चुका है। यहां यह उल्लेखनीय है कि एक अप्रैल 2021 की स्थिति में राज्य में रासायनिक उर्वरक का बचत स्कंध 4 लाख 75 हजार 544 मीट्रिक टन था, जिसमें निजी क्षेत्र में 3 लाख 26 हजार 6 मीट्रिक टन एवं सहकारी क्षेत्र में एक लाख 49 हजार 538 मीट्रिक टन की मात्रा शामिल है। बचत स्कंध एवं चालू खरीफ सीजन में प्राप्त उर्वरक को मिलाकर अब तक कुल 11 लाख 28 हजार 790 मीट्रिक टन उर्वरक का वितरण किसानों को किया गया है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.