टिड्डी, फाका नियंत्राण के लिए हेलीकॉप्टर से किया कीटनाशक का छिड़काव

Share

14 अगस्त 2020, राजस्थान/चुरू। टिड्डी , फाका नियंत्राण के लिए हेलीकॉप्टर से किया कीटनाशक का छिड़काव – चूरू, जिले में पिछले दो माह से चल रहे टिड्डियों के प्रकोप के मध्येनजर टिड्डी व फाका नियंत्राण के लिए गुरुवार को हेलीकॉप्टर के जरिए कीटनाशक का स्प्रे किया गया। केंद्रीय विद्यालय से हेलीकॉप्टर के अभियान शुरू करने के लिए उड़ान भरने के अवसर पर जिला कलेक्टर डॉ प्रदीप के गावंडे, सांसद राहुल कस्वां सहित संबंधित अधिकारी, जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में अधिकांशतः ट्डिडी पर नियंत्राण कर लिया गया है लेकिन अब हॉपर पर भी उसी ढंग से नियंत्राण की जरूरत है। इसे देखते हुए हेलीकॉप्टर से स्प्रे की व्यवस्था की गई है। इस हेलीकॉप्टर द्वारा फाके को नियंत्राण करने के लिए पूर्व म­ विभाग द्वारा लोकेशन की जियो टैगिंग की जाती है कि वे किस लोकेशन पर फाके की संख्या ज्यादा है, जहां पर नियंत्राण की कार्रवाई करवाई जानी है। इसके लिए चारों कोनों पर अलग-अलग उनके लोंगिट्यूड लैटिट्यूड र्निधारित कर दिए जाते ह®, जहां पर हेलीकॉप्टर द्वारा स्प्रे की कार्रवाई की जाती है तथा चारों कोनों पर झंडे लगाए जाते हैं ताकि ऊपर से सही जगह का पता लग सके।

सांसद राहुल कस्वां ने अधिकारियों से कहा कि वे इस तरह से एक्शन प्लान बनाकर कार्य करें कि किसानों को वास्तव में अधिकतम राहत मिले। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए यह समय अत्यंत महत्त्वपूर्ण है तथा यदि हम इस समय फाके पर नियंत्राण कर सकेंगे तो काफी हद तक किसानों को राहत मिलेगी।

कृषि अधिकारी कुलदीप शर्मा ने बताया कि टिड्डियों ने जिन-जिन क्षेत्राों पर रात्रि म­ पड़ाव डाले थे, उन जगहों पर अब हॉपर निकलने शुरू हो गए है। जहां पर टिड्डियों ने अंडे दिए थे उन पर 8 से 10 दिन बाद म­ यह हॉपर निकलने शुरू जाते हैं, जिनको हम देसी भाषा म­ फाका कहते है। इन पर पिछले 15 दिन से नियंत्राण का कार्य विभाग द्वारा किया जा रहा है। जिले म­ नवाचार के तौर पर फाके को नियंत्राण करने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया गया है। हेलीकॉप्टर के साथ 500 लीटर की टंकी सलंग्न होती है जिसम­ 5 परस­ट कीटनाशक का घोल बनाकर उस टंकी म­ डाला जाता है, जिससे स्प्रे की कार्रवाई की जाती है। हेलीकॉप्टर फसल या पौधों की ऊंचाई से लगभग 10 फीट ऊपर से स्प्रे की कार्रवाई करता है।

एक बार म­ हेलीकॉप्टर लगभग 50 से 60 हेक्टेयर क्षेत्राफल म­ नियंत्राण की कार्रवाई कर सकता है। चूरू तहसील की रोही म­ छिड़काव का कार्य किया गया है। कल तारानगर तहसील के कुछ क्षेत्राों की जियो टैगिंग की गई है, जहां पर नियंत्राण की कार्रवाई करवाई जाएगी। तत्पश्चात राजगढ़ तहसील के कुछ गांव चयन किए गए ह®, वहां पर नियंत्राण की कार्रवाई करवाई जाएगी। यह हेलीकॉप्टर 5 से 7 दिन तक चूरू जिले म­ नियंत्राण की कार्रवाई करेगा। इस दौरान पूर्व जिला प्रमुख सुर­द्र मारू, मह­द्र सिंह, टिड्डी मंडल के प्रभारी जी एल मीणा, मोहनलाल टेलर मौजूद थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.