कृषि क्षेत्र पर संकट – प्रधानमंत्री ने बुलाया राष्ट्रीय सम्मेलन

नई दिल्ली। कृषि क्षेत्र में संकट के समाधान के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 19 -20 फरवरी को राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाया है। इसमें कृषि क्षेत्र को गति देने के लिए कम अवधि और दीर्घावधि के लिए समाधान पर चर्चा होगी, जिसका मकसद 2022 तक किसानों की आमदनी को दोगुना करना है।
राष्ट्रीय सम्मेलन 2022 का आयोजन राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के पूसा परिसर में होगा, जिसका आयोजन कृषि मंत्रालय कर रहा है। कृषि सचिव श्री एसके पटनायक ने बताया कि इस सम्मेलन में 20 फरवरी को प्रधानमंत्री हिस्सा लेंगे।
कृषि मंत्री श्री राधामोहन सिंह, नीति आयोग के वरिष्ठ अधिकारी, कृषि सलाहकार निकाय सीएसीपी, राज्यों के विश्वविद्यालय, किसान और किसान संगठन के साथ अन्य लोग इस सम्मेलन का हिस्सा होंगे। पहले दिन कृषि विशेषज्ञ और अधिकारी इस मसले पर चर्चा करेंगे कि कृषि और संबंधित क्षेत्रों में समग्र सुधार कैसे हो। वे अपनी सिफारिशें अगले दिन प्रधानमंत्री के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। पिछले साल फसल की बंपर पैदावार की वजह से दलहन और तिलहन सहित ज्यादातर कृषि जिंसों के दाम में तेज गिरावट दर्ज की गई, जिससे कि कृषि क्षेत्र का संकट बढ़ा।
मध्य प्रदेश और राजस्थान ने पहले ही छूट की घोषणा की है जिससे किसानों की मदद हो सके और ग्रामीण क्षेत्रों में तनाव कम हो इन दोनों राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। यहां तक कि केन्द्र सरकार ने भी केन्द्रीय बजट 2018-19 में उत्पादन लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की घोषणा की थी।

www.krishakjagat.org
Share