नाथ के कर्ण और द्रोण का भरपूर उत्पादन

www.krishakjagat.org

इंदौर। नाथ बायो-जीन्स (इं.) लि. की बी.टी. कॉटन किस्म कर्ण और द्रोण से किसानों को भरपूर उत्पादन मिल रहा है। मध्यप्रदेश में गत वर्ष उक्त दोनों किस्मों के प्रदर्शन जिन किसानों के यहां किये गये वे सभी इनके परिणामों से पूर्ण संतुष्ट हैं। कम्पनी के जनरल मैनेजर श्री मानकर ने बताया कि कर्ण 150 दिन अवधि की किस्म है, जिसकी मध्य जून तक बोवनी करने पर भी दूसरी फसल आसानी से ली जा सकती है। द्रोण सिंचाई की उपलब्धता वाली भारी जमीन पर लगाई जा सकती है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष जल्दी पकने वाली किस्म 102 नं. किसानों को प्रदर्शन के लिये उपलब्ध कराई जायेगी। इस किस्म पर सकिंग पेस्ट नहीं आता और असिंचित क्षेत्र के लिये वे सर्वथा उपयुक्त है।

द्रोण व कर्ण उत्पादक किसानों की प्रतिक्रिया

  • चुनाई में आसान
  • डेंडू का आकार बड़ा
  • हरे मच्छर का प्रकोप कम
  • कीटनाशक स्प्रे का खर्च कम
  • 225 ग्राम बीज पर 9 से 10.20 क्विंटल तक उत्पादन
FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share