मैक्स – सोय सोयाबीन का सम्पूर्ण खरपतवार नियंत्रक

www.krishakjagat.org
Share

इंदौर। धानुका एग्रीटेक ने भारत में निसान केमिकल्स, जापान के सहयोग द्वारा खरपतवारनाशक मैक्स-सोय लाँच किया है। यह उत्पाद पर्यावरण के अनुकूल है, जिसका उपयोग करने से सोयाबीन की फसल पर किसी प्रकार का विपरीत प्रभाव जैसे कि फसल का पीला पडऩा अथवा वृद्धि में रुकावट आदि नहीं होता है जिससे फसल को उचित वृद्धि प्राप्त करने में मदद मिलती है। किसानों को विश्वस्तरीय कृषि उत्पाद उपलब्ध कराने के अपने उद्देश्य के अनुरूप, धानुका एग्रीटेक ने वर्ष 2013, 2014 और 2015 के दौरान 3 से अधिक वर्षों तक मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान में ‘शोध कार्य एवं फील्ड ट्रायल्स संचालित करने के बाद मैक्स – सोय लाँच किया है। इसके लिये धानुका एग्रीटेक ने जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर, यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर्स साइंसेस बैंगलोर, इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटेक्नालाजी एवं टॉक्सिकोलॉजी चैन्नई आदि सहित कई अन्य कृषि विश्वविद्यालयों और संस्थानों के साथ मिलकर काम किया है। मैक्स-सोय असरदार ढंग से दोनों प्रकार के खरपतवारों यानि सकरी और चौड़ी पत्ती के खरपतवारों का नियंत्रण करता है। मौजूदा सोयाबीन खरपतवारनाशकों में मैक्स सोय सबसे कम डोज पर कार्य करता है। इसकी आधुनिक तकनीक शीघ्र परिणाम सुनिश्चित करती है। इस तरह मैक्स-सोय खरपतवारों द्वारा मृदा में उपस्थित पोषक तत्वों के नुकसान पर शीघ्र लगाम कसता है।
प्रयोग की विधि –
मात्रा – मैक्स- सोय 1 एकड़ पैक (150 मिलीलीटर मैक्स-सोय) 1 एकड़ में 150 लीटर साफ पानी के साथ उपयोग करें।
अवस्था : मैक्स – सोय का इस्तेमाल खरपतवारों की 2-5 पत्ती की अवस्था पर करें।

www.krishakjagat.org
Share
Share