मध्यप्रदेश कृषि क्षेत्र में आगामी वर्षों में भी रहेगा आगे

www.krishakjagat.org
Share

भोपाल। मध्यप्रदेश ने कृषि क्षेत्र में अन्य राज्यों की अपेक्षा अच्छा काम किया है अगले 10-12 वर्षो तक इसके अग्रणी रहने की पूरी संभावना है। मध्यप्रदेश ने ऊर्जा के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय प्रगति की है। देश की ऊर्जा का 60 से 65 प्रतिशत उत्पादन अकेले मध्यप्रदेश में हो रहा है। यह बात राष्ट्रीय नीति आयोग के सदस्य श्री रमेश चन्द्र ने मंत्रालय में सभी विभागाध्यक्षों को संबोधित करते हुए कही। श्री रमेश चन्द्र ने कहा कि मध्यप्रदेश ने न केवल प्रधानमंत्री के उद्देश्यों की पूर्ति की है, बल्कि यहाँ उल्लेखनीय नवाचार भी हो रहे हैं। राज्य नीति आयोग के उपाध्यक्ष श्री चेतन्य काश्यप, राष्ट्रीय नीति आयोग के सलाहकार श्री अनिल श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव वन एवं आर्थिक सांख्यिकी श्री दीपक खाण्डेकर और राज्य नीति आयोग के मुख्य सलाहकार श्री राजेंद्र मिश्रा भी मौजूद थे। प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा ने प्रदेश की भावान्तर योजना का प्रस्तुतिकरण देते हुए बताया कि योजना में 11 अक्टूबर तक 4 लाख किसानों को जोड़ा जायेगा। यह योजना देश में आदर्श योजना बनती जा रही है। केन्द्र सरकार फूड कार्पोरेशन ऑफ इण्डिया, नाफेड और उत्तप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान आदि 10 राज्यों ने योजना की जानकारी ली है।

  • देश के ऊर्जा क्षेत्र में 60 प्रतिशत से अधिक योगदान मध्यप्रदेश का 
  • प्रधानमंत्री के उद्देश्यों की पूर्ति में मध्यप्रदेश आगे
  • राष्ट्रीय नीति आयोग का एक दिवसीय भोपाल भ्रमण 
www.krishakjagat.org
Share
Share