जैन इरीगेशन ने 2 अमरीकी कंपनियों का अधिग्रहण किया

नई दिल्ली। जैन इरीगेशन ने यू.एस. की 2 कंपनियों में 80 फीसदी हिस्सा 4.85 करोड़ डॉलर में खरीदी है। जैन इरीगेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अनिल जैन ने बताया कि एग्री वैली इरीगेशन और इरीगेशन डिजाइन एंड कंस्ट्रक्शन में 80 फीसदी हिस्सा खरीदा है।  अमरीका, दुनिया का सबसे बड़ा इरीगेशन का मार्केट है। ये दोनों कंपनियां अमरीकी बाजार में डिस्ट्रीब्यूशन का कामकाज करती हैं। दोनों कंपनियों का सीधे किसानों से जुड़ाव है। जैन इरीगेशन की इस अधिग्रहण के बाद अमरीका में सीधे किसानों से जुडऩे में आसानी होगी।
दोनों कंपनियों का कुल टर्नओवर 11.3 करोड़ डालर-  श्री अनिल जैन ने ये भी बताया कि दोनों ही कंपनियों का पिछले साल कुल राजस्व 11.3 करोड़ डॉलर था। दोनों ही कंपनियों के मार्जिन 10-11 फीसदी के आसपास हैं, जबकि जैन इरीगेशन के मार्जिन 6-7 फीसदी के आसपास हैं। लिहाजा इस अधिग्रहण से कंपनी के मार्जिन में सुधार की उम्मीद है। इस अधिग्रहण को कर्ज और आंतरिक स्रोतों के जरिए पूरा किया जाएगा। इस अधिग्रहण के लिए लंबी अवधि का कर्ज लिया जाएगा।
किसानों तक पहुंचेगी नई टेक्नालॉजी – श्री  जैन ने कहा कि जैन इरीगेशन ने ऑस्ट्रेलिया में ऑब्जर्वन टेक्नालॉजी का भी अधिग्रहण किया है। ऑस्ट्रेलियाई कंपनी के अधिग्रहण से जैन इरीगेशन को खेती के लिए इस्तेमाल होने वाली नई टेक्नालॉजी किसानों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। भारत में किसानों के लिए टेक्नालॉजी से जुड़े नए प्रोडक्ट बाजार में उतारने की योजना है। साथ ही इस साल सामान्य मानसून से जैन इरीगेशन को अच्छा फायदा होने की उम्मीद है।

माइक्रो इरीगेशन में
जैन इरीगेशन को कर्नाटक का 569 करोड़ का आर्डर

जैन इरीगेशन सिस्टम लि. को कर्नाटक के जल संसाधन मंत्रालय के कावेरी निरावरी निगम लि. की ओर से एकात्मिक सूक्ष्म सिंचाई प्रोजेक्ट का रु. 569 करोड़ का ऑर्डर हाल ही में प्राप्त हुआ है। योजना का भूमिपूजन समारोह गत 20 अप्रैल को कर्नाटक के मुख्यमंत्री श्री सिद्ध रामख्या के करकमलों से मालवली तहसील जिला मंडया कर्नाटक में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री श्री एम.जी. पाटिल व मंत्रीमंडल के सदस्य तथा 50 हजार से अधिक कृषक उपस्थित थे। यह प्रोजेक्ट कर्नाटक के मल्लवली तहसील में कार्यान्वित करने के लिये जैन इरीगेशन का चयन राष्ट्रीय स्तर पर तुलनात्मक पद्धति से किया गया।

www.krishakjagat.org
Share