कृषि क्षेत्र के समग्र विकास के लिए संस्थान प्रतिबद्ध

www.krishakjagat.org

आईसीएआर की 89वीं वार्षिक आम बैठक

नई दिल्ली। केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने गत दिनों नई दिल्ली में राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर, पूसा में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) की 89वीं वार्षिक आम बैठक को संबोधित किया। श्री सिंह ने इस अवसर पर आईसीएआर को उसके 88 गौरवशाली वर्ष पूरे होने पर बधाई दी है और तमाम चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के बावजूद कृषि प्रणाली को विकसित करने और कृषि उपत्पादकता बढ़ाते हुए देश में किसानों, विशेषतौर पर छोटे और सीमांत किसानों की आय में वृद्धि लाने में बड़ी सफलता हासिल करने के लिए संस्थान की सराहना की।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि आईसीएआर द्वारा वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री के विजन को सफल बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त आईसीएआर ने नई तकनीकों के विकास, एकीकृत कृषि प्रणाली, संस्थान निर्माण, मानव संसाधन, कृषि का विविधीकरण, नए अवसर पैदा करना तथा जानकारी के नए स्रोतों के विकास के लिए भी उल्लेखनीय कार्य किया है। आईसीएआर, भारतीय कृषि को वास्तविक अर्थों में और अधिक टिकाऊ और लाभप्रद बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस मौके पर कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, एवं श्रीमती कृष्णा राज तथा कृषि और किसान कल्याण तथा पंजायती राज राज्य मंत्री श्री पुरुषोत्तम रूपाला एवं भाकृअप के महानिदेशक डॉ. त्रिलोचन महापात्रा भी उपस्थित थे।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share