खरीफ विशेषांक

मेडागास्कर पद्धति – धान उत्पादन की उत्तम तकनीक

Hits: 733
भूमि का चुनाव इसके लिए ऐसी मृदा हो जिसमें कार्बनिक पदार्थ ज्यादा हो, उचित सिंचाई की सुविधा हो, उचित जल निकास की व्यवस्था हो, कार्बनिक खादों की पूर्ति के लिए हरी खाद, गोबर की खाद, जीवाश्म खाद, नाडेप कम्पोस्ट आदि का प्रयोग कि..

Read More


पीला सोना सोयाबीन लगायें

Hits: 746
खेत का चुनाव सोयाबीन की खेती के लिए अच्छे जल निकास वाली माध्यम से गहरी काली मिट्टी उपयुक्त होती है खेत का ढाल इस प्रकार हो की जल निकास अच्छी प्रकार से जाये और खेत में पानी न रुके। भूमि की तैयारी रबी फसल की कटाई ..

Read More


मूंगफली लगायें

Hits: 860
हमारे देश में मूंगफली का कुल उत्पादन 371 लाख मीट्रिक टन और उत्पादकता 14 क्विं. प्रति हेक्टर है। इसकी खेती विश्व में 100 से अधिक देशों में की जाती है। विश्व में मूंगफली का 97 प्रतिशत क्षेत्र व 94 प्रतिशत उत्पादन में विकासशील देशों का योगद..

Read More


अरहर की उत्पादन पद्धति

Hits: 573
एस.पी.आई.पद्धति को अन्य नाम जैसे धारवाड़ पद्धति, रोपण विधि, या अरहर सघनता पद्धति आदि नामों से जाना जाता है इस विधि का विकास कृषि वैज्ञानिकों द्वारा कर्नाटक में स्थित कृषि विश्वविद्यालय, धारवाड़ में किया गया। खेत का चुनाव..

Read More


मक्का एक उपयोगी फसल

Hits: 1058
भारत वर्ष में मक्का का उपयोग खाद्यान्न फसलों में धान एवं गेंहू के बाद तीसरे स्थान पर किया जाता है, देश में मक्का का उपयोग खाद्यान्न एवं चारे के लिए किया जाता है। अब मक्का को कार्न, पॉप कार्न, स्वीट कॉर्न, बेबी कॉर्न आदि अनेकों रूप म..

Read More


बाजरा की उन्नत खेती

Hits: 1818
खेत की तैयारी बाजरा की खेती के लिए दोमट मृदा जिसमें जल धारण की क्षमता हो व जल निकास की व्यवस्था हो उपयुक्त रहती हैं। वर्षा होते ही एक अच्छी जुताई करें जिससे मिट्टी में पर्याप्त नमी बनी रहती हैं। रेगिस्तानी क्षेत्रों म..

Read More


खरीफ दलहनों की उत्पादन व संरक्षण तकनीक

Hits: 434
भूमि खरीफ दालों को दोमट भूमियों में उगाया जाता है, लेकिन इनको सभी हल्की एवं भारी भूमियों में भी उचित जल प्रबंध द्वारा उगा सकते है। भूमि घुलनशील लवणों से रहित हो एवं उदासीन पी.एच. (पी.एच. 7.0) वाली भूमियां अच्छी मानी जाती है।..

Read More


फसल उत्पादन हेतु बुवाई विधि

Hits: 907
बीजों की बुवाई करने की विधि, विभिन्न कारणों, दशाओं और उद्देश्यों से प्रभावित होती है। जो इस प्रकार है:- बीज बुवाई विधि फसलों को अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिये बुवाई विधि जितनी महत्वपूर्ण है उतनी ही बुवाई की गहराई और..

Read More


चावल की एसआरआई पद्धति

Hits: 715
भारतीय किसानों ने उन्नत किस्मों का चुनाव, खाद एवं उर्वरकों का प्रयोग तथा पौध संरक्षण उपायों को अपनाकर धान की उपज बढ़ाने में सफलता हासिल की है परंतु बीते कुछ वर्षों से धान की उत्पादकता में संतोषजनक वृद्धि नहीं हो पा रही है। शोध सं..

Read More


रिज-फरो पद्धति का महत्व

Hits: 969
चौड़ी क्यारी व नाली पद्धति फसल बुवाई की यह यथास्थिति नमी संरक्षण के लिये अपनाई जाती है इसमें बुवाई संरचना, फरो इरीगेटेड रिज्ड बेड प्लान्टर से बनाई जाती है जिसमें सामान्यत: प्रत्येक दो कतारों के बाद लगभग 25 से 30 से.मी. चौड़..

Read More


Follow us on

Subscribe Here

For More Articles