उद्यानिकी योजनाओं ने बदली किसानों की तकदीर

खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये मध्यप्रदेश सरकार ने कई ऐतिहासिक निर्णय लिये हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भी सदैव खेती को लाभ के धंधे के रुप में स्थापित करने के लिये प्रतिबद्ध है। साथ ही उन्होंने प्रदेशभर के किसानों से उद्यानिकी फसलों का उत्पादन कर अधिक लाभ अर्जित करने का आव्हान भी किया है। इतना ही नहीं किसान उद्यानिकी फसलों के उत्पादन में भी आगे बढ़ें, ज्यादा मुनाफा कमायें। इसके लिये उद्यानिकी की दिशा में भी बहुत सी योजनायें चल रही हैं। उद्यानिकी विभाग द्वारा चलाई जा रही इन्ही योजनाओं ने कटनी जिले के किसानों की तकदीर और उनके विकास की तस्वीर दोनों बदली है।
उद्यानिकी की दिशा में कटनी जिले के किसान अच्छा खासा मुनाफा कमाकर अपने आपको प्रगतिशील किसानों की श्रेणी में स्थापित किये हुये हैं। वर्ष 2017-18 में राज्यपोषित योजनाओं से 18 किसानों ने अपने खेती के व्यवसाय को ऊंचाईयों की बुलंदियों पर पहुंचाया है। जिले के किसान कहीं ड्रिप के माध्यम से अनार की खेती कर रहे हैं, तो कहीं पॉली हाउस में फूलों के राजा गुलाब की बम्फर उत्पादन।
संजीव नैयर, अमित जैन, अंजनी कुमार छरिया, विजय निषाद और श्यामा लालवानी, जिले के ऐसे उद्यानिकी कृषक हैं, जिनके लिये उद्यानिकी विभाग की योजनाओं ने अपने खेती के व्यवसाय को आगे ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। यही कारण है कि आज ये उद्यानिकी फसलों का उत्पादन करने वाले कृषक, बेहतर उत्पादन प्राप्त कर रहे हैं।
भनपुरा-2 में कृषक संजीव नैयर ने जहां उद्यानिकी विभाग की योजनाओं के तहत ड्रिप सहित अनार की खेती की। वहीं 4 हेक्टेयर में पॉली हाउस के अंदर फूलों के राजा गुलाब का बंपर उत्पादन ले रहे हैं। संजीव नैयर के गुलाब के फूल, कटनी ही नहीं, देश की राजधानी में भी अच्छे खासे दामों पर बिकते हैं। संजीव नैयर ने दो हैक्टेयर में पॉली हाउस में ही शिमला मिर्च और पृथक से नींबू की खेती कर रहे हैं।
कटंगी खुर्द में उद्यानिकी कृषक अमित कुमार जैन ने भी 4 हेक्टेयर में सीडलैस नींबूं की खेती की है। वहीं 4 हेक्टेयर में ही ड्रिप व मल्चिंग के माध्यम से ही मिर्च का उत्पादन कर रहे हैं। परियोजना अधिकारी उद्यानिकी वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि कटंगी खुर्द में ही एक और उद्यानिकी कृषक अंजनी कुमार छरिया ने भी मिर्च, नींबू की खेती अपने 4 हेक्टेयर के खेत में कर रहे हैं।
वहीं विभाग की उ’च घनत्व पौध रोपण योजना के तहत मझगवां में उद्यानिकी कृषक सायमा लालवानी को उद्यानिकी विभाग के द्वारा ड्रिप इरीगेशन के साथ पौधे उपलब्ध कराकर दो हैक्टेयर में आम के पौधों का रोपण कराया गया है। इतना ही नहीं, पौधों की देखभाल के लिये योजना के तहत प्रत्येक वर्ष अलग-अलग राशि भी पौधों की सुरक्षा के लिये उ़द्यानिकी कृषक को दी जा रही है। इसी तरह बसाड़ी में भी उद्यानिकी कृषक प्रवीण बजाज को उ’च घनत्व पौध रोपण योजना के तहत विभाग द्वारा योजना का लाभ देते हुये लाभांवित किया गया है। प्रवीण ने, इस योजना के अंतर्गत 3 हैक्टेयर के क्षेत्र में आम के पौधों का रोपण कर उद्यानिकी के क्षेत्र में अपने कदम आगे बढ़ाये हैं।

www.krishakjagat.org
Share