मिर्च की पौधशाला में जाली लगाएं

www.krishakjagat.org

गत दिनों ग्राम करहिया, रीवा में डॉ. एस.के. पाण्डेय, अधिष्ठाता, कृषि महाविद्यालय, रीवा के मार्गदर्शन एवं डॉ. ए.के. पाण्डेय, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख, कृषि विज्ञान केन्द्र, रीवा के निर्देशन में मिर्च में प्रक्षेत्र दिवस मनाया गया। इस कार्यक्रम में केन्द्र के पौध संरक्षण वैज्ञानिक डॉ. अखिलेश कुमार मिर्च में लगने वाले पर्ण कुंचन बीमारी के प्रबंधन के लिए कृषकों को बताया कि पौधशाला में बीज उपचार, जालीदार नेट का प्रयोग, रोपाई के समय जड़ शोधन एवं समय-समय पर आवश्यकतानुसार जैव कीटनाशी रसायनों का प्रयोग करने से इस बिमारी से बचा जा सकता है।
डॉ. चन्द्रजीत सिंह, खाद्य वैज्ञानिक ने मिर्च का सब्जी में उसके पोषक तत्वों के विषय पर प्रकाश डाला। पौध रोग वैज्ञानिक डॉ. केवल सिंह बघेल मिर्च में लगने वाली विभिन्न प्रकार की बीमारियों एवं लक्षण के साथ साथ प्रबंधन के विषय में बताया।
इस अवसर पर गांव की महिला उपसरपंच एवं प्रगतिशील किसानों ने प्रक्षेत्र दिवस में भाग लिए।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share