जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के वानिकी विभाग को

आईसीएफ.आरई ने दिया ‘ए’ ग्रेड

जबलपुर। जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के मध्यप्रदेश में एक मात्र वानिकी शिक्षा, अनुसंधान व विस्तार के क्षेत्र में कार्यरत वानिकी विभाग को भारत में वानिकी शिक्षा के क्षेत्र में सर्वोच्च इंडियन काऊंसिल ऑफ फारेस्ट रिसर्च एण्ड एजुकेशन संस्थान देहरादून द्वारा एक्रिडिटेशन फलस्वरूप ”ए” ग्रेड प्रदान किया गया है। देश में आईसीएफआरई एक प्रमुख संस्था है। ”ए” ग्रेड हेतु कठिन मापदण्डों में खरा उतरना होता है, जैसे वानिकी शिक्षा के क्षेत्र में अनुसंधान व विस्तार के क्षेत्र में उत्तम कार्य करना। इन्फास्ट्रक्चर शिक्षा हेतु प्राकृतिक संसाधनों का सही व उत्तम उपयोग को देखते हुए 5 वर्षो हेतु ”ए” ग्रेड प्रदान किया जाता है।
इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉं. प्रदीप कुमार बिसेन ने कहा कि ”ए” ग्रेड प्राप्त होने से वानिकी शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्र-छात्राओं का मनोबल बढ़ेगा।
वानिकी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉं. एस.डी. उपाध्याय ने बताया कि मप्र में कृषि वानिकी शिक्षा हेतु एक मात्र विभाग है जिसे देश के सर्वोच्च वानिकी संस्थान द्वारा ”ए” ग्रेड प्रदान किया गया जो बहुत ही गौरव व सम्मान की बात है। इस अवसर पर अधिष्ठाता कृषि संकाय डॉ. पी.के. मिश्रा, संचालक अनुसंधान सेवायें एवं संचालक शिक्षण डॉ. धीरेन्द्र खरे, संचालक विस्तार सेवायें डॉ. (श्रीमती) ओम गुप्ता, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डॉं. आर.एम. साहू ने विभागाध्यक्ष डॉं. एस.डी. उपाध्याय एवं वानिकी विभाग के समस्त प्रोफेसर एवं वैज्ञानिक को बधाई दी।

www.krishakjagat.org
Share