प्रेक्टिकल अनुभव के लिए – कृषि महाविद्यालय के छात्र चले गांव की ओर

www.krishakjagat.org
Share

विदिशा। कृषि महाविद्यालय, गंजबासौदा के बी.एस.सी.(कृषि) अंतिम वर्ष के छात्र एवं छात्राएं ग्रामीण कृषि कार्य अनुभव’ (रावे) एवं कृषि औद्योगिक जुड़ाव कार्यक्रम के अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र हरदा एवं कृषि विज्ञान केन्द्र, सागर छह माह के लिये भेजे गये हंै। वहां पर छात्र केन्द्र के वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में स्थानीय कृषि का अध्ययन कर प्रायोगिक ज्ञान प्राप्त करेंगे।  कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. आई.एम. खान ने छात्र – छात्राओं को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। प्रसार शिक्षा के विभागाध्यक्ष डॉ. ए.के. सक्सेना एवं श्री एन.एस. खेड़कर ने रावे कार्यक्रम के उद्देश्य, रूपरेखा तथा सम्पूर्ण कार्यक्रम की जानकारी दी। छात्रों के एक दल को हरदा डॉ. ए.के. सक्सेना एवं श्री एन.एस. खेड़कर तथा छात्राओं को सागर सहप्राध्यापक डॉ.व्ही. के. यादव एवं सहा. प्राध्यापिका कुमारी प्रीति चौहान के नेतृत्व में भेजा गया। विदिशा। कृषि महाविद्यालय, गंजबासौदा के बी.एस.सी.(कृषि) अंतिम वर्ष के छात्र एवं छात्राएं ग्रामीण कृषि कार्य अनुभव’ (रावे) एवं कृषि औद्योगिक जुड़ाव कार्यक्रम के अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र हरदा एवं कृषि विज्ञान केन्द्र, सागर छह माह के लिये भेजे गये हंै। वहां पर छात्र केन्द्र के वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में स्थानीय कृषि का अध्ययन कर प्रायोगिक ज्ञान प्राप्त करेंगे।  कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. आई.एम. खान ने छात्र – छात्राओं को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। प्रसार शिक्षा के विभागाध्यक्ष डॉ. ए.के. सक्सेना एवं श्री एन.एस. खेड़कर ने रावे कार्यक्रम के उद्देश्य, रूपरेखा तथा सम्पूर्ण कार्यक्रम की जानकारी दी। छात्रों के एक दल को हरदा डॉ. ए.के. सक्सेना एवं श्री एन.एस. खेड़कर तथा छात्राओं को सागर सहप्राध्यापक डॉ.व्ही. के. यादव एवं सहा. प्राध्यापिका कुमारी प्रीति चौहान के नेतृत्व में भेजा गया। महाविद्यालय के प्राध्यापकों में डॉ. व्ही. के. गर्ग ,डॉ. एस.आर.एस. रघुवंशी, डॉ.आशीष श्रीवास्तव, डॉ. पी. के. मिश्रा,  डॉ.जी.आर. बंशल, के.सी. महाजन, डॉ.संतोष खरे एवं विनीता पर्ते ने गांव का सर्वे, सस्य विज्ञान संबंधी, पौध संरक्षण, मृदा सुधार, पशु उत्पादन, कृषि की विभिन्न गतिविधियों एवं कृषि औद्योगिक जुड़ाव विषयों में मध्यस्थता के लिये छात्र- छात्राओं को तकनीकी जानकारी दी।

www.krishakjagat.org
Share
Share