किसानों की जीवन रेखा बनी – भावांतर

भावान्तर भुगतान एवं अन्त्योदय मेला 12 फरवरी को भोपाल में

भोपाल। कृषि विभाग द्वारा भोपाल के जम्बूरी मैदान में 12 फरवरी को भावान्तर भुगतान एवं अन्त्योदय मेले का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें प्रदेश के लगभग 2 लाख किसानों के भाग लेने की संभावना है। इस मेले में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान दिसम्बर माह में भावान्तर भुगतान योजना के तहत उपज विक्रय करने वाले किसानों को अंतर की राशि का सीधे बैंक खातों में भुगतान करेंगे साथ ही कृषकों को प्रमाण-पत्र भी वितरित किया जाएगा।

  • भावांतर भुगतान योजना में 10.58 लाख किसानों को 1512 करोड़ का भुगतान
  • जनवरी में मक्का, फरवरी, मार्च, अप्रैल में तुअर का भुगतान भी होगा
  • भावांतर भुगतान योजना में रबी फसलों का 12 फरवरी से पंजीयन
  • 3,500 प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों में होगा पंजीयन

म.प्र. में चलाई जा रही भावान्तर भुगतान योजना खरीफ के बाद अब रबी 2017-18 में भी लागू कर दी गई है। शासन ने निर्णय लिया है कि 12 फरवरी से 12 मार्च के बीच चना, मसूर, सरसों एवं प्याज के लिए किसान नि:शुल्क पंजीयन करा सकते हैं। यह पंजीयन का कार्य गेहूं एवं धान की खरीद करने वाली सभी प्राथमिक सहकारी समितियों में किया जाएगा। पंजीयन राष्ट्रीय सूचना केन्द्र (एनआईसी) द्वारा तैयार किए गए भावान्तर भुगतान योजना के पोर्टल पर होगा।

पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • कृषक की ऋण पुस्तिका
  • स्वयं का आधार कार्ड
  • समग्र आईडी क्रमांक
  • बैंक खाता क्रमांक
  • मोबाइल नम्बर

उल्लेखनीय है कि खरीफ 2017 से राज्य में भावान्तर भुगतान योजना प्रारंभ की गई थी, जिसके तहत खरीफ की आठ फसल सोयाबीन, मक्का, मूंग, उड़द, तिल, रामतिल, मूंगफली एवं अरहर फसलें शामिल थीं। इन फसलों के तीन चरणों में मॉडल रेट तय कर किसानों के बीच अंतर की राशि का भुगतान किया गया।
मध्यप्रदेश में खरीफ-2017 से भावांतर भुगतान योजना में किसानों को उनकी उपज का मण्डियों में हुए उतार-चढ़ाव के अंतर का भुगतान किया जा रहा है। प्रदेश में भावांतर भुगतान योजना में 10 लाख 58 हजार किसानों को 1512 करोड़ रुपये का भुगतान किया जायेगा।
किसानों को जनवरी के मक्का, फरवरी, मार्च और अप्रैल के तुअर का भी भावांतर भुगतान योजना में लाभ दिया जायेगा। अक्टूबर-2017 में मण्डियों में फसल बेचने वाले एक लाख 36 हजार किसानों को भावांतर भुगतान योजना में 146 करोड़ 73 लाख रुपये का भुगतान किया गया। नवम्बर माह में 5 लाख 26 हजार किसानों को 773 करोड़ 32 लाख रुपये का भुगतान किया गया था। दिसम्बर माह में तीन लाख 97 हजार किसानों द्वारा बेची गई कृषि उपज का भुगतान 620 करोड़ 75 लाख रुपये किसानों के बैंक खातों में 12 फरवरी, 2018 को किया जायेगा।

गत दिनों मंत्रालय में नवनियुक्त कृषि एवं श्रम राज्यमंत्री श्री बालकृष्ण पाटीदार ने पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर उनका स्वागत करते हुए राज्य कृषक आयोग के अध्यक्ष श्री ईश्वरलाल पाटीदार एवं अन्य नेतागण।

 

www.krishakjagat.org
Share