ब्रिसबेन ऑस्ट्रेलिया में गन्ने के खेत का अवलोकन

आस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड से कृषकों का दल स्वदेश लौटा

(विशेष प्रतिनिधि)
भोपाल। मुख्यमंत्री किसान विदेश अध्ययन यात्रा योजना के तहत कृषि तकनीकों के अध्ययन के लिये किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग म.प्र. ने 40 कृषकों के दल को 13 मई को ऑस्ट्रेलिया एवं न्यूजीलैंड भेजा था। यह दल 25 मई को स्वदेश लौट आया है। दल में संचालक कृषि श्री मोहनलाल एवं सहायक संचालक डॉ. अनंता दीवान नोडल अधिकारी के रूप में एवं वैज्ञानिकों में श्री पवन अमृते व डॉ. अनिता बब्बर शामिल थी।

हैमिल्टन न्यूजीलैंड में डेयरीफार्म

कृषकों के दल ने आस्ट्रेलिया में गेहूं फसल की विभिन्न तकनीकों को देखा 2000 हेक्टेयर के फार्म पर ड्यूरम गेहूं की 7 माह में होती पैदावार में कम व्यय कर अधिक उत्पादन तकनीकों को समझा। आधुनिक कृषि के तहत बड़े रकबे में आसानी से खेती करने के लिये आस्ट्रेलिया में कृषक यंत्रों पर निर्भर है। यहां बंजर भूमि को भी जैविक विधि से उपजाऊ बनाकर खेती की जाती है। साथ ही सब्जी उत्पादन तकनीक में भण्डारण एवं पैकिंग कर स्ट्राबेरी, सब्जियों को बाजार में उपलब्ध कराना प्रमुख है। गन्ना फसल में मशीनों से कटाई एवं उनको शुगर मिलों तक पहुंचाने में भी मशीनों का उपयोग होता है। न्यूजीलैंड के आकलैंड में रोबोटिक डेयरी में पशुओं को मशीनरी के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है। दूध निकालने से लेकर उनकी साफ-सफाई एवं अन्य कार्य मशीनों से होते हैं।

मेलबोर्न ऑस्ट्रेलिया में ब्रोकली फार्म पर संचालक कृषि (मध्य में)

www.krishakjagat.org
Share