श्री रमेश भंडारी कलेक्टर

उद्यानिकी मूल्य अनुबंध योजना से किसानों की खेती बनेगी लाभ का धंधा

कृषकों की आय में दोगुनी वृद्धि के लिए कलेक्टर एवं सहायक संचालक उद्यान का संयुक्त प्रयास

(श्रवण मीणा)
छतरपुर। खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए छतरपुर जिले के किसान हितैषी प्रगतिशील कलेक्टर श्री रमेश भंडारी एवं सहायक संचालक उद्यान श्री एम.पी.एस. बुन्देला के संयुक्त प्रयास से महज 12 दिन में तैयार की गई उद्यानिकी मूल्य अनुबंध योजना लागू की गई।

योजना के प्रमुख उद्देश्य
कृषकों की आय में दोगुनी वृद्धि के साथ-साथ प्रति एकड़ प्रति वर्ष न्यूनतम 1 लाख रुपये की आय कराना गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले 134583 परिवारों की आय में वृद्धि के साथ-साथ कुपोषण दूर करना, कृषकों को बाजार जोखिम से बचाते हुए उद्यानिकी मूल्य अनुबंध योजना के माध्यम से उपज क्रय करने की गारंटी देना नीति आयोग के सर्वेक्षण से छतरपुर जिले को पिछड़ा घोषित किये जाने, पिछड़े जिलों की सूची से हटाकर उन्नतशील जिलों की सूची में शामिल करना।
अनुदान क्या है?

मनरेगा योजना में पात्र हितग्रालियों को मुनगा, अमरूद, नींबू एवं बांस पौध रोपण पर प्रति एकड़ न्यूनतम 1 लाख रु. का अनुदान। फलोद्यान की सुरक्षा हेतु कटीले तारों की व्यवस्था के साथ-साथ पौधे खाद, दवा व गड्ढों की खुदाई सहित 90 प्रतिशत पौधे जीवित रहने पर 3 वर्षों की मजदूरी भुगतान। बड़े कृषकों को फल पौध रोपण करने पर विभाग से 32 हजार रुपए प्रति एकड़ का अनुदान, टमाटर, मिर्च, प्याज, मेन्था के पौधों पर 50 प्रतिशत अनुदान अधिकतम 4 हजार रु. प्रति एकड़, हल्दी एवं तुलसी के बीज पौध पर 50 प्रतिशत अनुदान अधिकतम 20 हजार रुपए प्रति एकड़, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अंतर्गत ड्रिप, स्प्रिंकलर सिंचाई व्यवस्था पर अ.जा., अ.ज.जा वर्ग के लघु सीमांत कृषकों को लागत का 65 प्रतिशत सामान्य वर्ग के लघु सीमांत कृषकों को लागत का 60 प्रतिशत, अन्य बड़े कृषकों को लागत का 55 प्रतिशत अनुदान दिया जायेगा।

कौन ले सकता है अनुदान
योजना में हितग्राही सभी अनुसूचित जाति, जनजाति परिवार, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार, शासकीय पट्टेधारी, वन पट्टेधारी, महिला एवं विकलांग मुखिया परिवार एवं सभी लघु एवं सीमांत कृषक जिनके पास 5 एकड़ से कम भूमि है। कृषकों को आवेदन करने के लिए मनरेगा योजना हेतु कृषक विकासखंड स्तर पर स्थित शास. रोपणियों के साथ सहायक संचालक उद्यान से संपर्क कर आवेदन प्राप्त कर सकते हैं।
आवेदन के लिये कृषकों को उद्यान विभाग हेतु दस्तावेज, पासपोर्ट साइज फोटो 2, आधार कार्ड, वोटर कार्ड, खसरा बी-1, बैंक पास बुक की छायाप्रति, मोबाइल नं. मनरेगा योजना में पासपोर्ट साइज का फोटो 2, जाव कार्ड नम्बर, ग्राम पंचायत का ठहराव प्रस्ताव पत्र, सेल्स आफ प्रोजेक्ट नं. योजना में अभी तक 200 कृषकों के प्रकरण तैयार कर लिये गये हैं। योजना की विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए सहायक संचालक उद्यान श्री एम.पी.एस. बुंदेला के मोबाइल नं. 9425305121 पर संपर्क कर सकते हंै।

श्री बुन्देला सहा.सं. उद्यान

www.krishakjagat.org
Share