किसान क्रॉफ्ट द्वारा – कम पानी की एरोबिक धान का प्रदर्शन

इटारसी। उच्च गुणवत्तायुक्त कृषि उपकरण की एक आईएसओ 9001:2015 प्रमाणित निर्माता, थोक आयातक और वितरक कंपनी किसान क्रॉफ्ट ने इटारसी के समीप ग्राम सोमलवाड़ा के किसान श्री उमाशंकर वर्मा के खेत पर किसानों के लिए एरोबिक धान प्रदर्शन का आयोजन किया। इस प्रदर्शन का संचालन डॉ. समरेन्द्र साहू, जीएम रिसर्च एवं डेवलपमेंट, किसान क्रॉफ्ट लि. द्वारा किया गया। इसका उद्देश्य एरोबिक धान उगाने की प्रक्रिया पर किसानों को शिक्षित करना था।

एरोबिक धान के लाभ

  • सामान्य धान की तुलना में 50 प्रतिशत कम पानी का उपयोग।
  • उर्वरक, कीटनाशक व मजदूर की लागत में कमी।
  • कम वर्षा वाले क्षेत्रों के लिए उपयोगी।
  • खेतों को गीला करने की जरूरत नहीं।
  • नर्सरी, जुताई, समतलन और प्रत्यारोपण की आवश्यकता नहीं।
  • एरोबिक धान से भूमि की सेहत में सुधार।

प्रदर्शन के बारे में बताते हुए डॉ. समरेन्द्र साहू ने कहा धान की खेती और उत्पादन का भारत की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान है। पानी की कमी और ज्ञान के अभाव जैसी विभिन्न समस्याओं और मुद्दों का इस फसल के उत्पादन पर गहरा प्रभाव पड़ता है, जो कि हमारी अर्थव्यवस्था की वृद्धि को भी नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है। चावल की खेती के संबंध में बढ़ते मुद्दों से निपटने के लिए किसान क्रॉफ्ट में हमने एरोबिक धान की नई धारा विकसित की है, जो समान उत्पादन के साथ 50 प्रतिशत कम पानी का इस्तेमाल करती है।’

मैंने 1 एकड़ में किसान क्रॉफ्ट की एरोबिक धान लगाई है। लगभग 55-60 दिन की फसल की स्थिति अच्छी है। अच्छा उत्पादन होने की आशा है।

– श्री उमाशंकर वर्मा
किसान, ग्राम- सोमलवाड़ा

उन्होंने आगे कहा, ‘एरोबिक धान का इस्तेमाल कर किसान प्रति हेक्टेयर, मिट्टी की उर्वर क्षमता के आधार पर, लगभग 55 क्विंटल धान की पैदावार प्राप्त कर सकते हैं। चावल की पारंपरिक किस्मों की तुलना में स्वाद में किसी बदलाव के बिना, इस धान को सीधे बोया जा सकता है, जिससे धान की पैदावार का लाभ बढ़ता है और पैदावार का खर्च भी कम हो जाता है। एरोबिक धान की यह नई किस्म एआरबीसिक्स ओगेपा (किसान क्रॉफ्ट अक्षत ए1) को गांधी कृषि विज्ञान केन्द्र बेंगलुरू ने विकसित किया है। यह किस्म 20 क्विंटल प्रति एकड़ का उत्पादन देती है। रेतीली मिट्टी में यह किस्म अधिक उत्पादन देती है। इसे गेहूं, सोयाबीन की तरह सीधे बोया जा सकता है।

कार्यक्रम में कृषक प्रदर्शन कार्यक्रम क्षेत्र किसान, किसान क्रॉफ्ट के जोनल मैनेजर श्री बृजेन्द्र सिंह, कृषि वैज्ञानिक सुश्री प्रियंका, डॉ. सौजन्या, श्री अरविन्द कुमार व लुकमान खान उपस्थित थे।

www.krishakjagat.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share