कृषि विश्वविद्यालयों की टेस्टिंग फीस में बढ़ौत्री

ग्वालियर। राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ने अपने अनुसंधान केन्द्रों पर कम्पनियों द्वारा किये जाने वाले प्रोडक्ट टेस्टिंग के शुल्क में वृद्धि की है।
अब जीएम या ट्रांसजेनिक फसल किस्म के लिए 1 लाख 20 हजार रु. प्रति किस्म फीस लगेगी। इसी तरह अन्य फसलों या उत्पादों के परीक्षण हेतु अब यह शुल्क 90 हजार रु. प्रति किस्म या उत्पाद होगा। इन दोनों शुल्क में 18 प्रतिशत जीएसटी भी लगेगा।

www.krishakjagat.org
Share