नरवाई न जलाएं किसान

www.krishakjagat.org

नरवाई जलाने से नष्ट होता है मिट्टी का उपजाऊपन

नरवाई में आग लगाने से जहांएक ओर मिट्टी की उर्वरक क्षमता कम होती है, वहीं इसके कई गंभीर परिणाम भी होते हैं | खेत की आग के अनियंत्रित होने पर जन संपत्ति व प्राकृतिक वनस्पति, जीव-जन्तु आदि नष्ट हो जाते है, जिससे व्यापक नुकसान होता है | खेत की मिट्टी में प्राकृतिक रूप से पाये जाने वाले लाभकारी सूक्ष्म जीवाणु इससे नष्ट होते है | परिणाम स्वरूप खेत की उर्वरता खत्म होती है | उत्पादन भी कम होता है | आग लगने से हानिकारक गैस निकलती हैं जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुँचता है | खेत में पड़ा कचरा भूसा,डंठल सड़ने के बाद भूमि को प्राकृतिक रूप से उपजाऊ बनाते हैं|

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share