पौध संरक्षण में उदासीनता क्यों ?

www.krishakjagat.org
Share

देश में पौध संरक्षण रसायनों के खाद्य पदार्थों में अवशेष की आवाज समय-समय पर विभिन्न मंचों से उठती रहती है।

www.krishakjagat.org
Share
Read more

आत्मघाती विकास और पर्यावरण

www.krishakjagat.org
Share

सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को उन्नति और विकास का पैमाना मानने वाली सरकारें भावी पीढिय़ों के लिए खतरनाक विरासत तैयार

www.krishakjagat.org
Share
Read more

बिन पशुपालक पशुधन में सुधार सम्भव नहीं

www.krishakjagat.org
Share

किसानों की आय अगले पांच वर्ष में दुगनी करने के उद्देश्य में पशुपालन एक प्रमुख भूमिका निभा सकता है। गत

www.krishakjagat.org
Share
Read more

कृषि संकट की जड़ें – जावेद अनीस

www.krishakjagat.org
Share

आज भारत के किसान खेती में अपना कोई भविष्य नहीं देखते हैं, उनके लिये खेती-किसानी बोझ बन गया है हालात

www.krishakjagat.org
Share
Read more

लाभ की आशा में बुआई क्षेत्र में वृद्धि

www.krishakjagat.org
Share

मानसून के केरल तट पर समय से पहुंचने के बाद भी मध्यप्रदेश, राजस्थान तथा अन्य उत्तरी राज्यों में यह देर

www.krishakjagat.org
Share
Read more

सत्याग्रह के प्रयोग की प्रासंगिकता

www.krishakjagat.org
Share

हम एक ऐसे समय में जी रहे हैं जिसमें वैश्वीकरण और उदारीकरण की नीतियों ने विश्व भर के देशों में

www.krishakjagat.org
Share
Read more

बीज पर जीएसटी दुविधा में बीज उद्योग

www.krishakjagat.org
Share

(विशेष प्रतिनिधि) एक राष्ट्र, एक कर, एक बाजार की आदर्श परिस्थिति के विपरीत वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) ने पूरे

www.krishakjagat.org
Share
Read more

न समर्थन मूल्य न भण्डारण व्यवस्था

www.krishakjagat.org
Share

देश में किसानों के असंतोष के बीच भारत सरकार ने पिछले दिनों लोकसभा में यह आश्वासन दिया कि किसानों के

www.krishakjagat.org
Share
Read more

किसानों का आक्रोश व सरकार

www.krishakjagat.org
Share

मध्यप्रदेश में किसानों के उग्र प्रदर्शन को दस दिन हो गये, इसमें छह किसानों की जीवन लीला ही समाप्त हो

www.krishakjagat.org
Share
Read more

बाजार बदल गया, लेकिन किसान की किस्मत नहीं

www.krishakjagat.org
Share

कर्ज-माफी व फसलों के उचित दाम को लेकर महाराष्ट्र में किसानों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा। किसानों

www.krishakjagat.org
Share
Read more
Share