भावान्तर भुगतान योजना – शनै: शनै: पटरी पर

www.krishakjagat.org

भोपाल। किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए पिछले एक पखवाड़े से चल रही भावान्तर भुगतान योजना धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है। शुरूआती दौर में व्यापारियों द्वारा कम कीमत दिए जाने के विरोध में किसानों ने विरोध किया, परंतु अब योजना में बदलाव कर संशोधन करने पर मंडियों में आवक बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने विदेश से लौटते ही उच्च स्तरीय बैठक कर मॉडल रेट शीघ्र तय करने के निर्देश दिए, इस कारण अब प्रत्येक 15 दिनों में मॉडल रेट तय किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि किसान किसी के बहकावे में न आएं यह योजना जारी रहेगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अक्टूबर महीने में प्रदेश की मंडियों में 6,98,000 टन आवक हुई, वहीं वर्ष 2016 में ये 7,33,000 टन थी और 2015 में 8,70,000 टन रही। इस वर्ष अक्टूबर महीने में कम आवक की वजह फसल का कमजोर होना, त्यौहारी महीना और भावांंतर की गफलत मानते हैं प्रेक्षक।
                                                                   मुख्य बिन्दु
  • उपज बेचने के लिये 15 किलोमीटर या अधिक दूरी के लिये परिवहन व्यय मिलेगा।
  • 15 दिनों का मॉडल रेट बनने की संभावना
  • 2 लाख रुपये तक नगद भुगतान कर सकते हैं व्यापारी।
  • कलेक्टरों को मंडी व्यवस्थाएं देखने के निर्देश 
  • अक्टूबर में बेची गई फसल की भावांतर राशि दो सप्ताह में किसानों के बैंक खाते में
  • भुगतान की सूचना एसएमएस द्वारा

भावान्तर भुगतान योजना में 19 लाख 63 हजार से अधिक किसानों ने पंजीयन कराया है इसमें 2 हेक्टेयर तक जोत वाले 60 फीसदी किसान हैं। अब तक 35 लाख क्विंटल से अधिक कृषि उपज इस योजना के माध्यम से मंडियों में आ चुकी है जिसका भुगतान लगभग 168 करोड़ रुपये किसानों को किया जाएगा। 31 अक्टूबर तक एक लाख 17 हजार से अधिक किसानों ने मक्का, तुअर, सोयाबीन, मूंगफली, उड़द, मूंग, तिल एवं रामतिल मंडियों में विक्रय की है। पूर्व में रामतिल की आवक मंडियों में नहीं थी परंतु अब भावान्तर की राशि मिलने की चाह में उसकी आवक भी प्रारंभ हो गई है।
नगदी भुगतान में आयकर नियम आड़े नहीं
मुख्यमंत्री की घोषणा के पश्चात मंडी बोर्ड ने भुगतान संबंधी व्यापारियों की शंका का समाधान किया है। मंडी बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री फैज अहमद किदवई ने कहा है कि आयकर नियम 269 एसटी के अनुसार व्यापारी किसान को 2 लाख रुपये तक नगदी राशि का भुगतान कर सकते हैं। इस नियम के अंतर्गत भुगतानकर्ता के ऊपर यह नियम प्रतिबंधात्मक नहीं है। इसी तरह आयकर नियम की धारा 40-ए (3) के अनुसार कृषि उपज एवं वनोपज खरीदी में 10 हजार रुपये नगद भुगतान की सीमा 6 डीडी के अनुसार लागू नहीं होती।
मॉडल रेट
राज्य में गत 15 दिनों का औसत मॉडल भाव ट्रेंड के मुताबिक सोयाबीन के लिये 2580, मक्का के लिए 1190, मूंग 4120, उड़द 3000, मूंगफली 3720 एवं तिल का 5440 रुपये प्रति क्विंटल तय है इसमें समर्थन मूल्य से भाव में अंतर की राशि सोयाबीन 470, मूंग 1455, मूंगफली 730, उड़द 2400 एवं मक्का 235 रुपये प्रति क्विंटल आ रहा है जो किसानों को भुगतान किया जाएगा। योजना में दिन-प्रतिदिन बदलाव किए जा रहे हैं।
ट्रैक्टर भाड़ा सरकार देगी
अब चिन्हित 8 जिन्सों को बेचने के लिये अगर खेत से 15 किलोमीटर या इससे अधिक दूरी पर स्थित कृषि उपज मण्डी/उप मण्डी तक फसल ले जाना पड़ेगा तो उसे प्रति किलोमीटर के आधार पर परिवहन व्यय मिलेगा। परिवहन दर का निर्धारण जिला कलेक्टर, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी तथा जिला स्तर की मण्डी के सचिव की समिति करेगी।
परिवहन व्यय के लिये चयनित जिन्सों में सोयाबीन, मक्का, तिल, रामतिल, मूंगफली, मूंग, उड़द और तुअर शामिल हैं। परिवहन व्यय भुगतान की शर्तें और प्रावधान भी तय कर दिये गये हैं। प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र के जिलों में जिला प्रशासन एग्रीगेटर के तौर पर ट्रैक्टर-ट्रॉली/वाहन को अधिकृत करेंगे।
गैर आदिवासी क्षेत्रों के जिलों में कृषि अभियांत्रिकी विभाग द्वारा खुलवाये गये कस्टम हायरिंग सेन्टर के उपलब्ध ट्रैक्टर-ट्रॉली/वाहन से परिवहन का भुगतान किया जायेगा। परिवहन की गई फसल के मण्डी के दस्तावेजों के आधार पर विक्रय का सत्यापन करने के बाद संबंधित जिला कलेक्टर की समिति द्वारा निर्धारित की गई प्रति किलोमीटर परिवहन दर से निकटतम मंडी की दूरी का जहाँ फसल बेची गई है, परिवहनकर्ता को व्यय का भुगतान किया जायेगा।
भण्डारण पर अनुदान
सरकार ने यह भी निर्णय लिया कि जो किसान अपनी फसल का भण्डारण करना चाहते हैं और बाद में उचित मूल्य मिलने पर फसल की बिक्री करना चाहते हैं, उनको लायसेंसी गोदाम में भण्डारण करने पर प्रति क्विंटल प्रति माह 9.90 रुपए का अनुदान शासन द्वारा दिया जाएगा।

    प्रमुख फसलों के औसत
मॉडल रेट का ट्रेंड
(30 अक्टूबर तक) (रु. प्रति क्विंटल)
फसल एमएसपी मॉडल रेट   (औसत) अंतर
सोयाबीन 3050 2580 470
मूंग 5575 4120 1455
उड़द 5400 3000 2400
तिल 5300 5440 140
मक्का 1425 1190 235
मूंगफली 4450 3720 730

 

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share