Krishak Jagat

कृषि संवाद लाभ की सौगात

रतलाम में कृषि नवाचार

रतलाम। सुदूर अंचलों के कृषकों को प्रति सप्ताह कृषि वैज्ञानिकों, अधिकारियों से सीधा संवाद करने का नया तरीका कृषि विभाग रतलाम ने निकाला है। जिला कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा के मार्गदर्शन में प्रति बुधवार दोपहर 12 से डेढ़ बजे तक ‘कृषि संवाद लाभ की सौगात’ कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंस से आयोजित किया जाता है। कॉन्फ्रेंस में एक ओर जिला स्तर के अधिकारी जिनमें कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य पालन, आत्मा एवं कृषि वैज्ञानिक तो दूसरी ओर छ: विकासखंडों में वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, आत्मा उद्यानिकी, पशुपालन विभाग के अधिकारियों के साथ प्रत्येक 15 ग्राम पंचायत से प्रगतिशील कृषक ऐसे प्रत्येक विकासखंड में 25 से 30 कृषक उपस्थित होते हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंस शुरू होते ही सभी विकास क्षेत्रों में बैठे कृषक एवं जिला स्तर पर बैठे जिला अधिकारियों एवं वैज्ञानिकों में वार्ता का दौर शुरू होता है। जिससे उनकी कृषि संबंधी समस्या समाधान, विभाग की योजना, भविष्य में कृषि कार्यों आदि विषय पर संवाद होने से यह कार्यक्रम सफल साबित हुआ है। कॉन्फ्रेंस में प्रगतिशील कृषकों को भी ्अपनी बात 5 मिनिट में कहने का मौका मिलता है जिससे अन्य कृषक लाभान्वित होकर ग्राम में अन्य कृषकों को बात बताते हैं। पिछले 2 माह से प्रारंभ कार्यक्रम में अभी तक सभी 440 ग्राम पंचायतों की भागीदारी हो चुकी है। जिले के 6 विकासखंडों के कृषक एवं जिला अधिकारी को आपसी संवाद करने का यह सरल एवं आसान मंच मिला है। जिले में उपसंचालक कृषि श्री ज्ञान सिंह मोहनिया प्रत्येक बुधवार आयोजित कार्यक्रम उपरांत प्राप्त समस्या, जानकारी, सुझाव आदि की समीक्षा कर तत्काल आवश्यक कार्यवाही करते हैं जिसमें विभाग की अच्छी छवि कृषकों में बढ़ती जा रही है।

संवाद विशेष

  • प्रत्येक बुधवार
  • दोपहर 12 से 1.30 बजे
  • 6 विकासखंड
  • 150 कृषक
  • एक मंच पर

www.krishakjagat.org