रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

  • पीला मोजाईक बीमारी की रोकथाम हेतु अनुसंशित कीटनाशक थयोमिथाक्सम 30 एफएस दवा की 10 मिली प्रति किग्रा बीज की दर से बीज उपचार की प्रक्रिया सुनिश्चित करें।
  • सोयाबीन 15 दिन की होने पर खड़ी फसल में अनुशंसित खरपतवारनाशक जैसे क्लोरीम्यूरान इथाइल (36 ग्राम/हे.) या इमाझेथायपर (1.0 ली./हे.) में से किसी एक का 500 लीटर पानी के साथ फ्लड जेट या फ्लेट फेन नोजल (कट नोजल) का उपयोग कर समान रूप से खेत में छिड़काव करें।
  • धान की नर्सरी में अधिक वर्षा होने के कारण पौध सडऩ रोग की सम्भावना है। इस प्रकार की परिस्थिति में फफूंदनाशक दवा (कार्बेन्डाजिम, थायरम, बाविस्टीन आदि) का छिड़काव करें।
  • मूँग, उड़द व तिल की बोनी 15 से 20 जुलाई तक भी कर सकते हैं। मूँग, उड़द व तिल के बीज 8 किलोग्राम तथा तिल फसल के बीज 2 किलोग्राम प्रति एकड़ बोना चाहिए।
  • सोयाबीन पोषण प्रबंधन हेतु अनुशंसित पोषक तत्वों की मात्रा 20 किग्रा यूरिया, 150 किग्रा सिंगल सुपर फास्फेट, 25 किग्रा पोटाश/एकड़ के हिसाब से बोवनी के समय खेत में डालें।

उद्यानिकी

  • वर्षाऋतु में रोपने के लिए बैगन, टमाटर, खरीफ प्याज, अगेती फूल गोभी, मिर्च आदि की रोपणी तैयार करें। कद्दूवर्गीय सब्जियों एवं भिंडी की में सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए नीम तेल 50 मिली को 15 ली. पानी में मिलाकर छिड़कें।

पशुपालन

  • बकरियों में पीपीआर रोग के नियंत्रण के लिए टीका लगवाएं, बकरियों को हरा चारा साफ पानी एवं सूखे स्थान में बांधें।

मत्स्य पालन

  • जुलाई अगस्त का महीना मछलियों के प्रजनन का होता है। नवीन मछली बीज डालें तथा तालाब से अनावश्यक जीव जन्तुओं तथा अवांछनीय मछलियों की सफाई करें। वर्षा ऋतु में होने वाली बीमारियों की रोकथाम के उपाय करें।

कृषि, पशुपालन, मौसम, स्वास्थ, शिक्षा आदि की जानकारी के लिए जियो चैट डाउनलोड करें-डाउनलोड करने की प्रक्रिया:-

  • गूगल प्ले स्टोर से जियो चैट एप का चयन करें और इंस्टॉल बटन दबाएं।
  • जियो चैट को इंस्टॉल करने के बाद,ओपन बटन दबाएं।
  • उसके बाद चैनल बटन पर क्लिक करें और Information Services MP का चयन करें।
  • या आप नीचे के क्तक्र ष्टशस्रद्ग को स्कैन कर, सीधे Information Services MP चैनल का चयन कर सकते हैं।

टोल फ्री नं.१८००४१९८८०० पर
संपर्क करें सुबह 9.30 से शाम 7.30 बजे तक

www.krishakjagat.org
Share