रिलायंस फाउण्डेशन की किसानों को सलाह

www.krishakjagat.org
  • गेहूं में बुआई के बाद बची हुई 30 किलोग्राम नत्रजन यदि एक सिंचाई की सुविधा है तो 30 दिन की अवस्था पर सिंचाई देने के दो दिन बाद टाप ड्रेसिंग करें यदि दो सिंचाई की सुविधा हो तो 15 किलोग्राम नत्रजन/हे. की दर से प्रथम सिंचाई 30 दिन, द्वितीय सिंचाई फूल आने की अवस्था 75 से 80 दिन की अवस्था पर सिंचाई देने के दो दिन बाद टाप ड्रेसिंग करें।
  • चने में इल्लियों का प्रकोप दिखाई देने एवं नियंत्रण हेतु कीटनाशकों की आवश्यकता होने पर प्रोफेनोफॉस 50 ई.सी. 40 मिली प्रति 15 लीटर पानी में घोल बनाकर या इंडोक्साकार्ब 14.5 एस.पी. को 8 मिली प्रति 15 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।
  • सरसों में विरलीकरण तथा खरपतवार नियंत्रण कार्य करें। सरसों फसल 60 से 65 दिन की हो गयी हो वे आवश्यकतानुसार दूसरी सिंचाई करें।
  • चने मेंं फली छेदक कीट की निगरानी हेतु फेरोमोन प्रपंच 3-4 प्रति एकड़ उन खेत में लगाएं जहां पौध में 10-15 प्रतिशत फूल खिल गये हों। खेत में पक्षियों को बैठने के लिए टी आकार की 3 फुट ऊंची 20 खूटियां प्रति एकड़ खेत में विभिन्न जगह पर लगाएं।

उद्यानिकी

  • बैंगन, टमाटर, मिर्च एवं अन्य सब्जियों पर लगने वाले कीटों से बचाव के लिए कंडे या लकड़ी की ठंडी राख सुबह-सुबह भुरकाव करें।
  • आलू में झुलसा रोग आने की संभावना होने पर नियमित रूप से निगरानी करते रहें। फफूंदनाशक की आवश्यकता होने पर आलू की फसल में डाईथेन एम-45 दवा 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में या कार्बेंडाजिम दवा 1 ग्राम प्रति लीटर पानी में चिपकाने वाले पदार्थ के साथ मिलाकर छिड़काव करें।
  • प्याज में थ्रिप्स के प्रकोप की निरंतर निगरानी करते रहें। कीट प्रकोप होने पर इमिडाक्लोप्रिड 17.8 प्रतिशत एस.एल. 5 मिलीलीटर को प्रति 15 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।

पशुपालन

  • सुदाना खनिज मिश्रण खिलाने से बछड़े/बछियों की वृद्धि, दुधारू पशु के दुग्ध उत्पादन में वृद्धि, पशुओं की रोगों से लडऩे की क्षमता में वृद्धि, प्रजनन शक्ति को ठीक और दो ब्यात के बीच के अंतर को कम तथा पशुओं में ब्यात के आसपास होने वाले रोगों जैसे दुग्ध ज्वर, कीटोसिस, मूत्र में रक्त आना आदि की रोकथाम करता है।
 अधिक जानकारी के लिये रेडियो पर सुनें किसान संदेश आकाशवाणी
के एफ एम विविध भारती भोपाल 103.5 मेगा हा.,
जबलपुर 102.9 मेगा हा., पर शाम 6.30 से 6.35बजे एवं आकाशवाणी छिंदवाड़ा 675 कि.हा.पर शाम 7.00 से 7.05 बजे।
टोल फ्री नं.18004198800 पर
संपर्क करें सुबह 9.30 से शाम 7.30 बजे तक
FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share