खेती का कार्य करते हुए दुर्घटना के शिकार किसानों को मिलेगी 4 लाख की सहायता

www.krishakjagat.org
Share

बनखेड़ी। होशंगाबाद जिले में विकासखंड स्तरीय एक दिवसीय कृषक संगोष्ठी का शुभारंभ प्रदेश के किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने किया। इस अवसर पर आपने कहा कि कम वर्षा के कारण उत्पन्न संकट में सरकार किसानों के साथ खड़ी है। फसलों का उचित मूल्य दिलाने के लिए सरकार ने भावांतर भुगतान योजना लागू की है। भावांतर योजना में खरीफ में 8 फसलों का चयन किया गया है। कृषि मंत्री ने जिले में खराब फसल का सर्वे कराने के लिए भी प्रशासन को कहा। आपने आगे कहा कि खेती का कार्य करते यदि किसान दुर्घटना का शिकार होता है तो उसके परिवार को मंडी निधि से 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। कृषि मंत्री ने कहा कि एक वर्ष के अंदर प्रदेश में 265 मिट्टी केंद्र शुरू करेंगे। कृषि संगोष्ठी में जिले के कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने किसानों को भावांतर योजना की जानकारी दी। उन्होंने किसानोंसे अपना पंजीयन कराने को कहा। संगोष्ठी में कृषि वैज्ञानिकों ने कहा कि कम सिंचाई के गेहूं, चने की बुवाई करें।
कार्यक्रम में कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ. डी.के. पहलवान ने जल प्रबंधन तथा कम सिंचाई की फसलों की जानकारी दी। उप संचालक कृषि श्री जितेन्द्र सिंह ने संगोष्ठी के आयोजन के उद्देश्यों की जानकारी दी। कार्यक्रम में क्षेत्रीय विधायक ठाकुर दास नागवंशी, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल, अंत्योदय समिति के सदस्य हरिशंकर जायसवाल, कृषि समिति के अध्यक्ष मनोहर लाल बैंकर, कृषि उपज मंडी की अध्यक्ष श्रीमती खेम कुमारी, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती कमला मदन गोपाल सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

www.krishakjagat.org
Share

Leave a Reply

Share