जैविक कीटनाशकों पर कसी लगाम

www.krishakjagat.org

कीटनाशक का अंश पाए जाने पर होगी कार्यवाही

भोपाल। कृषि संचालनालय ने प्रदेश में जैविक कीटनाशक एवं वृद्धि नियंत्रक के नाम से बाजार में धड़ल्ले से बिक रहे उत्पादों के नमूने लेकर जांच कराने के निर्देश दिए हैं। समस्त उप संचालकों से कहा गया है कि नमूने लेकर जांच के लिये राष्ट्रीय वनस्पति स्वस्थ प्रबंधन संस्थान हैदराबाद भेजें,यदि जांच के पश्चात कीटनाशक का अंश पाया जाता है तो अनाधिकृत कीटनाशक विक्रय मानकर कीटनाशी अधिनियम 1968 एवं कीटनाशी अधिनियम 1971 में दिए गए प्रावधानों के तहत कार्यवाही करें। ज्ञातव्य है कि जैविक कीटनाशक और वृद्धि नियंत्रक उत्पादों का पंजीयन अनिवार्य नहीं है इस कारण यह उत्पाद बेरोक-टोक बाजार में बेचे जा रहे हैं।

FacebooktwitterFacebooktwitter
www.krishakjagat.org
Share