प्रदेश में आया मानसून

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

प्रदेश-में-आया-मानसून

राजधानी सहित कई जिले आगोश में

भोपाल। दक्षिण-पश्चिम मानसून ने गत 28 जून को राजधानी भोपाल में अपनी आमद दर्ज करा दी है। हालांकि यह मानसून 14 दिन देर से आया है परन्तु दुरुस्त आने की उम्मीद है। किसानों ने बोनी प्रारंभ कर दी है। जानकारी के मुताबिक प्रदेश के बालाघाट एवं इन्दौर की तरफ से 25 जून को मानसून ने प्रवेश कर लिया था।

प्रदेश में दो दिन से इन्दौर और होशंगाबाद की सीमा पर अटके मानसून ने गत 28 जून को राजधानी में भी आमद दे दी। मौसम विभाग के दिल्ली केन्द्र ने मानसून के भोपाल पहुंच जाने की घोषणा की थी। वहीं मानसून ने होशंगाबाद और इन्दौर तक तो आमद दर्ज करा दी थी, लेकिन इसके बाद ताकत कम हो जाने के चलते इन जिलों सहित अन्य क्षेत्रों में इसका प्रभाव नहीं दिख रहा था। अब इसे ताकत पं. बंगाल में बन रहे कम दबाव के क्षेत्र से मिलेगी।

भोपाल में 10 साल बाद फिर 28 जून को मानसून ने दस्तक दी है। इसके पहले वर्ष 2009 को 28 जून को शहर में मानसून आया था। मौसम विज्ञानियों ने धीरे-धीरे बरसात के दौर में तेजी आने की संभावना जताई है। साथ ही दो दिन यह झमाझम बारिश होने के आसार जताए हैं। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी श्री अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में दक्षिण म.प्र. पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है।

प्रदेश में 137 लाख हे. में ली जायेंगी खरीफ फसलें : श्री शुक्ला

मानसून के आगमन के साथ ही प्रदेश में खरीफ फसलों की बोनी प्रारंभ हो गई है। इस संबंध में संचालक कृषि श्री मुकेश शुक्ला ने कृषक जगत को बताया कि प्रदेश में 137.1 लाख हे. में खरीफ फसलें लेने का लक्ष्य रखा गया है। जबकि सामान्य क्षेत्र 118.50 लाख हे. है। अब तक केवल कपास की बोनी 3 लाख हे. से अधिक क्षेत्र में हुई है। मानसून आने के बाद अब खरीफ फसलों की बोनी प्र्रारंभ होगी इसमें धान 24.97 लाख हे., मक्का 13.68 लाख हे. एवं सोयाबीन 56.32 लाख हे. में लेने का लक्ष्य है। इसके साथ ही राज्य में खाद, बीज एवं कीटनाशकों की पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

इस सिस्टम की वजह से अरब सागर से नमी मिल रही है। इससे राजधानी में बरसात का क्रम तेज हुआ है। श्री शुक्ला के मुताबिक एक कम दबाव का क्षेत्र आगे बढ़ेगा। इससे मानसून को अच्छी ऊर्जा मिलेगी। इससे राजधानी सहित पूरे प्रदेश में लगातार तेज बौछारें पडऩे की संभावना है।

भोपाल में मानसून की आमद
वर्ष तारीख
2015 22 जून
2016 20 जून
2017 26 जून
2018 24 जून
2019 28 जून
Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated News