खरीफ में किसान आगे, सरकार पीछे

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

खरीफ-में-किसान-आगे--सरकार-पीछे

किसानों की तैयारी पूरी

(विशेष प्रतिनिधि)

भोपाल। खरीफ सीजन शुरु हो गया है। प्रदेश के किसान तैयारी में जुटे हैं। कृषि आदानों का अग्रिम भण्डारण करने के साथ-साथ खेत भी लगभग तैयार कर लिए गए है। कपास बेल्ट के कुछ क्षेत्रों में बोनी भी प्रारंभ कर दी गई है। अब केवल मानसून का इंतजार है जिसके 20 जून तक मप्र आने की संभावना है। इस वर्ष चुनावी चक्कर के कारण किसान आगे एवं सरकार पीछे रह गई है। कृषि क्षेत्र की सारी व्यवस्थाएं चरमरा गई है। सरकार को कुछ सूझ नहीं रहा कि कहां से शुरु करें और खत्म।


प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद ऋण माफी एवं तबादले का दौर चला। आचार संहिता लगने के कारण ये दोनो मामले अधर में लटक गए, न पूरा ऋण माफ हो सका, और न ही चहेतों की पदस्थापना उचित स्थान पर हो सकी। इसके बाद लोकसभा चुनाव में करारी हार ने सरकार की चूलें हिला दी है अब वह आनन-फानन में फैसले कर रही है। 

राज्य में कृषि क्षेत्र सरकार की लेट-लतीफ के कारण पिछड़ गया है। 31 मई से संभागीय बैठके शुरु हुई है, बीजों की दरें अभी तय नहीं हुई है। एक जून से होने वाली किसानों की हड़ताल जैसे-तैसे वापस कराई गई है। इधर मानसून भी 6 दिन लेट हो गया है।  इस वर्ष सामान्य से कुछ कम मानसून आने की भविष्यवाणी एवं अनुमानों के बीच प्रदेश का किसान बेहतर उत्पादन की उम्मीद में है बशर्ते उसे समय पर कृषि आदान, सलाह एवं मार्गदर्शन मिलता रहे। 

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated News