भ्रष्टाचार का मामला - हेड़ाऊ डिसमिस

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

भ्रष्टाचार-का-मामला---हेड़ाऊ-डिसमिस

4 वर्ष की सजा, 15 हजार का जुर्माना

(विशेष प्रतिनिधि)

भोपाल। राज्य शासन ने सागर जिले के तत्कालीन उपसंचालक कृषि एवं वर्तमान में निलंबित नामदेव हेड़ाऊ को शासकीय सेवा से बर्खास्त (डिसमिस) कर दिया है। उन पर दो लाख रुपए की रिश्वत लेने का मामला प्रमाणित होने पर यह कार्यवाही की गई है। इस मामले में विशेष न्यायालय भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम सागर द्वारा गत 20 फरवरी 2019 को आरोपी श्री हेड़ाऊ को चार वर्ष का सश्रम कारावास एवं 15000 रुपए के अर्थदण्ड से दंडित किया गया है।

ज्ञातव्य है कि वर्ष 2016 में तत्कालीन उपसंचालक कृषि श्री हेड़ाऊ ने बीज उत्पादक सहकारी समिति ककरीबेरखेड़ी (चांदपुर) जिला सागर के 27 लाख रुपए के भुगतान के एवज में 2 लाख रुपए की मांग की थी। उन्हें रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त पुलिस ने पकड़ा था। जिसके चलते भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध होने के कारण राज्य शासन ने उन्हें निलंबित कर दिया था। इसके पश्चात अपराधिक प्रकरण पर विशेष न्यायालय ने 4 वर्ष का सश्रम कारावास और 15 हजार के अर्थदण्ड से दंडित किया है।

जानकारी के मुताबिक न्यायालयीन प्रकरण में दोष सिद्ध होने के बाद सामान्य प्रशासन विभाग के निर्देशानुसार एवं म.प्र. लोक सेवा आयोग की सहमति पर शासन ने श्री हेड़ाऊ को शासकीय सेवा से बर्खास्त (डिसमिस) कर दिया है।

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated News