खरीफ के लिए आदान की पर्याप्त व्यवस्था

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

खरीफ-के-लिए-आदान-की-पर्याप्त-व्यवस्था

संचालक कृषि श्री मुकेश शुक्ला से चर्चा

(प्रकाश दुबे)

भोपाल। मानसून आगमन के बाद खेत में पर्याप्त नमी होने पर किसान खरीफ फसलों की बुआई प्रारंभ कर देता है। पूरे प्रदेश में लगभग एक ही समय पर ऐसी स्थिति बनती है। मानसून आने में 1 माह से भी अधिक समय है। विभाग ने ऐसी स्थिति में खरीफ फसलों के उत्पादन में आवश्यक उर्वरक-बीज की व्यवस्था हेतु अग्रिम भण्डारण पर विशेष ध्यान दिया है। इस संदर्भ में प्रदेश के संचालक कृषि श्री मुकेश शुक्ला ने कृषक जगत को बताया कि म.प्र. में खरीफ फसलों के बेहतर उत्पादन की तैयारी जोरों पर चल रही है। किसानों को समय पर उर्वरक बीज उपलब्ध हो ऐसी व्यवस्था बनाने के निर्देश सभी जिला स्तर पर अधिकारियों को दिये गये हैं। पर्याप्त भण्डारण उच्च गुणवत्ता युक्त कृषि आदानों का हो इसके लिए सेम्पल व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाया गया है। मक्का फसल पर फॉल आर्मी वर्म के प्रकोप से निपटने के लिए जिलों में वैज्ञानिक दलों के साथ भ्रमण कर आवश्यक कीटनाशकों के छिड़काव की सलाह विभाग ने दी है। श्री शुक्ला ने कृषकों से गहरी जुताई कर बुआई, बीज उपचार, समय पर पर्याप्त नमी में बुआई की सलाह दी है। आदान व्यवस्था के संबंध में श्री शुक्ला ने बताया कि खरीफ 2019 के लिए लगभग 26 लाख टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य रखा गया है। इसमें मुख्यत: यूरिया 10.50 लाख टन, डीएपी 7, कॉम्पलेक्स 2, एमओपी 1 तथा एसएसपी का 4 लाख टन वितरण लक्ष्य शामिल है।

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated News