कृषि को सुदृढ़, और लाभकारी बनाने ढांचागत परिवर्तन जरूरी

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

कृषि-को-सुदृढ़--और-लाभकारी-बनाने-ढांचा

उपराष्ट्रपति एग्री-विजन-2019 में हुए शामिल

हैदराबाद। उपराष्ट्रपति श्री एम वैंकेया नायडू ने कृषि क्षेत्र के प्रति सार्थक भाव बनाने और इसे सुदृढ़, सतत और लाभकारी बनाने के लिए नीतिगत कार्यक्रमों के माध्यरूम से ढांचागत परिवर्तन लागू करने का आह्वान किया है।

उपराष्ट्रपति हैदराबाद में एग्री-विजन-2019 का उद्घाटन कर रहे थे। स्मार्ट और सतत कृषि के लिए, कृषि समाधान विषय पर दो दिन के सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने कृषि क्षेत्र की अनेक चुनौतियों के व्यापक और दीर्घकालिक समाधान के लिए सभी हितधारकों द्वारा गंभीर प्रयास करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कृषि ऋण माफी जैसे थोड़े समय के उपायों से कुछ समय के लिए राहत तो मिलेगी लेकिन दीर्घकालिक रूप से  किसानों को कोई लाभ नहीं मिलेगा।

उत्पादकता में गिरावट, प्राकृतिक संसाधनों की कमी और अवमूल्यन, खाद्यान की तेजी से बढ़ती मांग, एक स्तर पर टिकी कृषि आय, छोटे भूखंड के तथा अप्रत्याशित जलवायु परिवर्तन भारतीय कृषि के  समक्ष प्रमुख चुनौतियां हैं। 
 

Share On : facebook-krishakjagat.org twitter-krishakjagat.org whatsapp-krishakjagat.org

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated News