तकनीकी कृषि कार्यमाला

महिला किसानों की उपलब्धियां

Hits: 666
किसान ही नहीं सफल उद्यमी भी हैं श्रीमती स्वर्णा तिजारे  ग्राम बोरीखुर्द, वि.खं. बरघाट जिला सिवनी की सफल किसान हैं श..

Read More


खरगोन के किसानों ने मक्का का बम्पर उत्पादन किया

Hits: 747
80 क्विं. प्रति हेक्टेयर तक हुई खरगोन। जिले में इस वर्ष किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने रबी फसलों का 2 लाख 66 हजार हेक्टेयर क्षेत्..

Read More


मालवी गेहूं की नई किस्में

Hits: 1631
मध्य भारत का मालवांचल अपने परम्परागत मालवी/कठिया (ड्यूरम) या सूजी वाले गेहूं के लिये सदियों से प्रसिद्व है। मध्य भारत में गेहूं पकने के समय वायुमंडलीय आद्र्रता कम होने से, यहां पर विश्व स्तर के गुणों वाला, धब्बों रहित, च..

Read More


गेहूं की शून्य जुताई से करें बुवाई

Hits: 924
जीरोटिलेज क्यों और कैसे: अनुसंधान से यह पाया गया है कि अगर गेहूं की बुवाई 25 नवंबर के बाद करते हैं तो प्रतिदिन 25-30 किलो ग्राम प्रति हेक्टेयर उपज में कमी आती है। इसके साथ-साथ खेत को तैयार करने के लिए होने वाले खर्च को भ..

Read More


क्या अल्प वर्षा से बढ़ेगा चने का रकबा ?

Hits: 526
इंदौर।  इन दिनों मध्य प्रदेश में रबी फसलों की बुआई का दौर शुरू हो गया है। लेकिन अभी रफ्तार नहीं पकड़ी है। खास बात यह है कि इस बार रबी के तहत गेहूं के बजाय चने की तरफ किसानों का रुझान ज्यादा बढ़ रहा है। इसका मुख्य क..

Read More


गेहूँ की उन्नत खेती

Hits: 1156
उपयुक्त जलवायु - गेहूँ मुख्यत: एक ठण्डी एवं शुष्क जलवायु की फसल है अत: फसल बोने के समय 20 से 22 डि.से., बढ़वार के समय 25 डि. से. तथा पकने के समय 14 से 15 डि. से. तापक्रम उत्तम रहता है। तापमान से अधिक होने पर फसल जल्दी पक जाती है और ..

Read More


लहसुन, मूंगफली, अदरक, शकरकंद का उत्पादन बहुत कम होता है। क्या जमीन में कुछ कमी है।

Hits: 873
समाधान - आपका जिला सभी प्रकार की फसलों के उत्पादन के लिये उपयुक्त है। कंदीय फसल अदरक तो वहां सदियों से लगाया जाता रहा है। बीच में सतत अदरक की खेती के चलते वहां 'राईजोमराट' कंद का सडऩ रोग आने लगा इस कारण क्षेत्र..

Read More


प्याज की तीन फसल लेंगे किसान पुणे में सीखी प्याज-लहसुन उत्पादन तकनीक

Hits: 1518
इंदौर। प्याज की बाजार मांग को देखते हुए किसान वर्ष में इसकी तीन फसल ले सकते हैं। प्याज खरीफ, लेट खरीफ एवं रबी – वर्ष में तीन बार प्याज का उत्पादन किया जा सकता है। अब अंचल के किसान वर्ष में प्याज की तीन फसल लेने की योजना बना..

Read More


जैविक खेती का प्रशिक्षण

Hits: 978
नैगवां (कटनी)। एसीसी सीमेंट फैक्ट्री कैमोर द्वारा अंगीकृत ग्राम-कलहरा के मोहन टोला में सीएसआर मैनेजर श्री ऐनर विश्वास के मार्गदर्शन में लीसा परियोजना के अंतर्गत संतोषी स्व-सहायता समूह की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने क..

Read More


धान में पोषक तत्वों का महत्व

Hits: 10696
धान में पोषक तत्वों का महत्व   धान की अधिक पैदावार के लिये एकीकृत पोषक तत्व प्रबंधन एक महत्वपूर्ण उपाय हैं, जिसमें रसायनिक उर्वरक, सूक्ष्म पोषक तत्व, जैविक उर्वरक, हरी-नीली शैवाल, गोबर..

Read More


Follow us on

Subscribe Here

For More Articles