अपनी बात

बांस के रूप में तीसरी फसल लें किसान : श्री कियावत

Hits: 922
उज्जैन। जिस तरह से आज क्षिप्रा नदी का कटाव हो रहा है इसे देखते हुए लग रहा है कि शीघ्र ही आने वाले समय में किनारे के खेतों में अपने में समेट लेगी। ऐसे समय में क्षिप्रा नदी के किनारे की खेती करने वाले किसान बांस को तीसरी फसल क..

Read More


मूंगफली खूब फली

Hits: 2553
भारत विश्व में मूंगफली के क्षेत्रफल व उत्पादन की दृष्टि से प्रथम स्थान पर है। हमारे देश में मूंगफली की कम उत्पादकता का कारण, इसकी खेती असिंचित व अनुपजाऊ भूमि में होना है। साथ ही सूखे की अधिकता व अधिक अवधि में पककर तैयार होना है। ग..

Read More


आदिवासियों की फसल रामतिल

Hits: 1554
हमारे देश का करीब 20 प्रतिशत क्षेत्र आदिवासी जनजातियों का है, आदिवासी क्षेत्रों में रामतिल, मुख्य खरीफ के रूप में उगाई जाती है इसे क्षेत्रों में जगनी भी कहा जाता है, इसके तेल की विशेषता यह है कि इसमें 25 से 35 प्रतिशत प्रोटीन होता है, आ..

Read More


सही समय, सही तरीके से बढ़ता है उत्पादन

Hits: 4072
सघन खेती एवं असंतुुलित उर्वरक उपयोग के कारण कृषि भूमि में पोषक तत्वों की उपलब्ध मात्रा में कमी एवं असंतुलन की स्थिति उत्पन्न होती जा रही है, फलस्वरूप भूमि की उर्वरता एवं उत्पादकता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इस उत्पादन में प..

Read More


स्वचालित धान रोपाई यंत्र

Hits: 13995
धान रोपाई के परंपरागत तरीकों में बीज को नर्सरी में बोया जाता है फिर पौधे को धीरे से निकाल कर साफ करके गुच्छा बनाकर जुताई किए गए मिट्टी में बोया जाता है। हाथ से रोपाई करने का काम बहुत मुश्किल एवं थकाने वाला काम होता है। धान के रोपाई..

Read More


सोयाबीन की उन्नत उत्पादन तकनीक

Hits: 8810
सोयाबीन की उन्नत उत्पादन तकनीक बुवाई के समय किये जाने वाले कार्य:- सोयाबीन  बीज- विभिन्न जातियों के बीज आकार के हिसाब से उपयोग करना चाहिये। छोटे दाने वाले ..

Read More


धान का आहार पोषण

Hits: 1043
धान के पोषण में विभिन्न पोषक तत्वों की भूमिका नाइट्रोजन  धान की नाइट्रोजन आवश्यकता बहुत अधिक है। फसल लगभग पकने के समय तक नाइट्रोजन चाहती है फिर भी कल्ले बनने की अवस्था में नाइट्रोजन की मांग विशेष अधिक रहती है..

Read More


फास्फोजिप्सम से बढ़ेगा तिलहनी फसलों का उत्पादन

Hits: 1042
सोयाबीन मध्यप्रदेश में सोयाबीन का क्षेत्रफल पूरे देश के क्षेत्र का 80 प्रतिशत है तथा उत्पादकता 5 दशक से केवल 1 टन प्रति हैक्टेयर के आसपास ही रहती है। उत्पादन में स्थिरता का एक प्रमुख कारण प्रदेश में लगातार सोयाबीन-गेहूं फसलचक्..

Read More


खरीफ और चुनौतियां

Hits: 863
भारतीय कृषि मानसून की दासी है उसके बुने तानों-बानों पर ही उसे चलना है जैसा उसका बजाना वैसा ही कृषि को गाना है यह बात सर्वविदित है। वर्ष 2015 का मानसून आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा। जून सूखा गया, जुलाई सूखा जा रहा है जिसका स..

Read More


फन्दा प्रक्षेत्र बनेगा बड़ा बीज अनुसंधान केन्द्र : श्री बिसेन

Hits: 514
भोपाल। फन्दा कृषि प्रक्षेत्र प्रदेश का बड़ा बीज अनुसंधान केन्द्र बनेगा। इसमें अधिक उत्पादन वाली किस्में विकसित कर किसानों को विक्रय की जायेंगी। मौसम की बदलती हुई परिस्थिति को देखते हुए बीजों की प्रजाति विकसित की जाय..

Read More


Follow us on

Subscribe Here

For More Articles