किसानों ने समझी गुजरात की कृषि तकनीक

Share On :

farmers-understand-gujarats-farming-techniques

बड़वानी जिले के उपसंचालक कृषि श्री सुनील दुबे एवं परियोजना संचालक आत्मा श्री ए.एस. सोलंकी दल को झंडी दिखाकर रवाना करते हुए।

(प्रकाश दुबे)

भोपाल। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग म.प्र. भोपाल की पी.पी. पार्टनर संस्था के.जे. एजुकेशन सोसायटी भोपाल ने राज्य के बाहर अध्ययन एवं भ्रमण कार्यक्ररम गुजरात राज्य में कराया। खंडवा एवं बड़वानी जिले के चयनित कृषको ने गुजरात में विभिन्न कृषि गतिविधियों को देखा। बड़वानी जिले के पानसेमल, निवाली एवं सेंधवा विकासखंड के चयनित कृषको के दल को जिला आत्मा गवर्निंग बोर्ड के सदस्य श्री बद्री प्रसाद शर्मा, श्री के.सी. सिसोदिया (एसएडीओ) ने सेंधवा से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वहीं जिला मुख्यालय से दल को झंडी उपसंचालक कृषि श्री सुनील दुबे एवं परियोजना संचालक आत्मा श्री ए.एस. सोलंकी ने दिखाई। खंडवा जिले के पंधाना, खालवा, छैगांवमाखन, विकासखंडों के चयनित कृषको के दल को संयुक्त संचालक आत्मा भोपाल श्री एम.एल. जैन ने झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। दल ने मूंगफली अनुसंधान निदेशालय जूनागढ़ में मूंगफली उत्पादन की जानकारी डॉ. नारायणन डॉ. नरेन्द्र कुमार, डॉ. त्रिमणी स्वामी, डॉ. पूनम जसरोटिया से ली। संस्था में मूंगफली उत्पादन प्रक्षेत्र का भी अध्ययन किया। जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय में पशुपालन केन्द्र में उन्नत पशुपालन महत्व को कृषको ने पशुपालन तकनीको को समझा यहां श्री जितेश भूत ने उन्नत नस्लों जिनमें गिर गाय एवं जाफराबादी भैंसों के विषय में विस्तार से देखा। भ्रमण आणंद कृषि विश्वविद्यालय में कराया। यहां केद्र में डॉ. अरविन्द भाई कलोला ने औषधि फसल, जैविक कृषि कृषि अभियांत्रिकी, सहित अन्य विभागों में कृषि कार्यों को देखने के बाद सरदार पटेल संग्रहालय का भी भ्रमण किया साथ ही तीर्थ एग्रो शक्तिमान राजकोट संयंत्र भी गये जहां कपनी के नेशनल हेड श्री रवि माथुर एवं श्री मिलन कक्कड़, श्री हेमंत तिवारी ने आधुनिक तकनीको से निर्मित शक्तिमान के विभिन्न उपकरण बनते हुए देखे। भ्रमण के दौरान गुजरात नर्मदा बेली फर्टिक के जेतपुरा स्थित किसान सेवा केन्द्र का भी अवलोकन किया यहां कपनी के मैनेजर श्री बी.जे. सांवलिया ने उर्वरक उपयोग के तरीके बताये। आणंद स्थित अमूल डेयरी में कृषको ने दूध से विभिन्न प्रकार के उत्पाद बनते देखे एवं कृषको द्वारा स्थापित अमूल डेयरी की कहानी देखी। सोसायटी प्रतिनिधि रामस्वरूप लौवंशी ने खंडवा तो यशवंत कुशवाह ने बड़वानी जिले के कृषको का प्रतिनिधित्व किया। भ्रमण कार्यक्ररम में प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर, पावागढ़ मंदिर एवं समुद्र तट का भी भ्रमण किया |

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles