रोजगार गारंटी से हुआ पानी की समस्या का समाधान

Share On :

रोजगार-गारंटी-से-हुआ-पानी-की-समस्या-का

देवास। जिले की बागली जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत महूखेड़ा में पूनमचंद पिता अमरसिंह की जिंदगी अब खुशहाल हो गई है। खुशहाली की प्रमुख वजह है पानी की समस्या का समाधान। जिससे पूनमचंद के लिए खेती करना फिर से संभव हो गया है। पानी की समस्या का समाधान रोजगार गारंटी की उपयोजना कपिलधारा कूप के माध्यम से हुआ है।

पूनमचंद के पास कृषि योग्य भूमि थी जिससे वो और उसका परिवार अपना जीवनयापन करता था। सब कुछ ठीक चल रहा था। कुछ वर्षों से पानी की समस्या बढ़ी तो उसकी समस्या भी बढ़ी और परिवार भी सफर करने लगा। खेती कम हुई और धीरे-धीरे पूरी तरह खत्म हो गई। आय का एकमात्र स्त्रोत यदि बन्द हो जाये तो क्या स्थिति होती है ? यह गांव में रहने वाले किसान से लेकर शहर में रहने वाला बाबू भी जानता है। कुआं बनने से पानी की समस्या का समाधान काफी हद तक हो जाता। पर इतने पैसे यदि होते तो फिर आर्थिक हालात डगमागाते ही क्यों ? जहां चाह है वहां राह भी है। शासन की रोजगार गारंटी योजना की जानकारी पूनमचंद को कहीं से मिली। फिर क्या पूनमचंद के यहां कूप निर्माण का कार्य शुरु हुआ। कुएं के निर्माण में 1.75 लाख रुपये की लागत आई। वह रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत वहन की गई। पानी की समस्या का समाधान हुआ तो खेत में सिंचाई की समस्या खत्म हो गई। फसल सिंचित होने लगी और खेत फिर से सोना उगलने लगे।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles