कैन बायोसिस ने दिया पराली का समाधान

Share On :

can-biosis-gives-solution-to-stubble

नई दिल्ली। पौधों के पोषण और कीट प्रबंधन के क्षेत्र में काम कर रही विशेषज्ञ एग्री-बायोटेक कंपनी कैन बायोसिस ने एक पर्यावरण अनुकूल उत्पाद स्पीड कम्पोस्ट की पेशकश की है, जो पराली जलाने की समस्या से निजात दिलाएगा। विभिन्न शोध संस्थानों और अधिकृत संगठनों से मान्यता प्राप्त इस उत्पाद से पर्यावरण के लिए कोई जोखिम पैदा नहीं होता है और इससे मिट्टी की गुणवत्ता और कृषि उपज को बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

कैन बायोसिस की एमडी सुश्री संदीपा कानितकर ने कहा, 'बीते चार साल से हम धान की पराली जलाए जाने पर रोक के लिए पंजाब और हरियाणा में काम कर रहे हैं। पराली जलने से न सिर्फ पर्यावरण प्रदूषण के माध्यम से स्वास्थ्य के प्रति जोखिम बढ़ता है, बल्कि इसके चलते मिट्टी से मूल्यवान कार्बन भी अलग हो जाता है। पोषण कम होने से मिट्टी बंजर और धीरे-धीरे अनुपजाऊ हो जाती है, जिससे जमीन सख्त हो जाती है और पानी के साथ उर्वरक बहकर आगे नदियों व भूमिगत जल को प्रदूषित करते हैं। इससे स्वास्थ्य और शैवालों के विस्तार के प्रति गंभीर जोखिम पैदा होता है। 

खेतों को उपजाऊ बनाने में पराली के पुन: उपयोग के लिए आसान प्रौद्योगिकी की अनुपलब्धता के चलते सरकार द्वारा लगाया गया प्रतिबंध कोई व्यावहारिक विकल्प नहीं है।'

स्पीड कम्पोस्ट के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा, 'भारत द्वारा इस उत्पाद को अपनाए जाने का यह सही समय है, जो न सिर्फ आय बढ़ाने में मददगार है, बल्कि यह पर्यावरण के अनुकूल भी है। रसायन और पानी के अत्यधिक इस्तेमाल और जैविक खाद के कम उपयोग से जल स्तर पर में खासी कमी आई है। 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles