किसान जैविक - नैसर्गिक खेती कर लाभ कमाएं

Share On :

farmers-make-profit-by-doing-organic-and-natural-farming

श्री श्री रविशंकर ने खेती, अध्यात्म और तकनीकी शिक्षा पर दिया व्याख्यान

खरगोन। आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने कहा कि खेती को रसायनों के दुष्प्रभाव से बचाकर किसान जैविक और नैसर्गिक खेती कर लाभ कमाएं। किसानों के नौजवान बच्चे भी नैसर्गिक खेती को अपना व्यापार बनाकर आत्मनिर्भर बनें। उन्होंने कहा कि अन्नदाता सुखी भव:। अन्नदाता किसान सुखी होगा तो पूरा देश खुशहाल होगा। श्री श्री रविशंकर ने गत दिनों खरगोन जिले के बोरावां गांव में विशाल किसान महोत्सव और छात्र महासमागम को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया है। मध्यप्रदेश की सरकार किसानों की समृद्धि के लिए अनेक योजनाएं और कार्यक्रम बनाकर उन्हें प्रशिक्षण दे रही है।  खेती, स्वास्थ्य और अच्छी सड़कों के निर्माण से प्रदेश उन्नति कर रहा है । परम पूज्य गुरूदेव श्री श्री रविशंकर ने आगे कहा कि मॉ नर्मदा के इस इलाके की कृषि भूमि बड़ी उपजाउ है। यहां के किसान मेहनतकश हैं। इस इलाके में नर्मदा नदी के किनारे नर्मदेश्वर शिवलिंग घड़े जाते हैं जो समूचे देश के तीर्थ स्थलों में स्थापित हैं। यहां के आदिवासी किसान भी आधुनिक और उत्तम खेती करते हैं। अरूण यादव और सचिन यादव मुस्कान और खुशी बांटते हुए किसानों को बड़ा सम्मान देते हैं। यह हमारी अनमोल परंपरा है। इस विशाल समागम में आकर मुझे अत्यंत खुशी हुई। 

किसान महोत्सव और छात्र महासमागम में उमड़ा जनसैलाब 

नौजवान खेती को बनाएं अपना व्यापार

श्री अरुण यादव के साथ अभिवादन स्वीकारते हुए श्री श्री रविशंकर।

केबिनेट मंत्रियों श्री वर्मा, श्री सिलावट और श्री यादव ने भी महोत्सव को सम्बोधित किया है। इस अवसर पर परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार किसानों की सरकार है। सरकार शिक्षा के विकास और नागरिकों को अच्छी स्वास्थ्य सेवायें देने के लिए कृत संकल्पित है। किसान कल्याण और कृषि विकास मंत्री सचिन यादव ने श्री श्री रविशंकर का स्वागत करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार खेती किसानी से विमुख हो रहे नौजवानों को जैविक और नैसर्गिक खेती से जोड़कर उन्हें उद्यमी बनाने की दिशा में काम कर रही है। श्री श्री रविशंकर जी ने देश का बढ़ाया सम्मान देश के पूर्व केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री अरूण यादव ने श्री श्री रविशंकर जी का हार्दिक अभिनंदन करते हुए कहा कि गुरूदेव ने निमाड़ की इस धरा पर आकर हमारा और किसानों का गौरव बढ़ाया है। 

श्री श्री रविशंकर उपसंचालक कृषि श्री एम.एल .चौहान का सम्मान करते हुए।

श्री श्री रविशंकर जी नैसर्गिक और जैविक खेती को अपनाने के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रहे हैं । इसके लिए वे समूचे देश में भ्रमण करते रहते हैं । 

स्व. सुभाष यादव को अतिथियों और किसानों ने दी आदरांजलि 

श्री श्री रविशंकर ने मध्यप्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री स्व. सुभाष यादव को याद करते हुए कहा कि उन्होनें सहकारिता आंदोलन के माध्यम से यहॉ के किसानों को देश विदेश में पहचान दिलाई है । उन्होनें गरीबों को सहकारी आंदोलन के जरिए शोषण से मुक्त कराया। खरगोन जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री सज्जनसिंह वर्मा और परिवार कल्याण और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने भी स्व. सुभाष यादव को नमन किया और कहा कि उन्होनें निमाड अंचल के किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाया है। उनके दोनों बेटे अरूण यादव और सचिन यादव भी किसानों के हित में हर मंच से आवाज उठाते हैं। 

उपसंचालक कृषि श्री कमल यादव, धार के श्री आर.एल. जामरे, कृषक जगत के प्रकाश दुबे, यशवंत कुशवाहा एवं प्रतिनिधि श्री राजीव कुशवाहा।

अरूण यादव ने भी रूॅधे गले से अपने स्वर्गीय पिता सुभाष यादव को याद किया। इस महोत्सव में आये किसानों ने भी स्वर्गीय सुभाष यादव को आदरांजलि अर्पित की। श्री श्री रविशंकर जी ने राधाकृष्ण मंदिर परिसर में किया कल्पवृक्ष का रोपण।  

भेंट की शालंका

श्री श्री रविशंकर को बकावां में बने शिवलिंग के साथ चांदी की शालंका भी भेंट की गई। श्री अरूण यादव ने किसानों की ओर से हल भेंट किया। श्री अरूण यादव ने गुरूदेव को शॉल ओढ़ाकर चांदी का श्रीफल भेंट कर महोत्सव में आए किसानों की ओर से एक हल भी भेंट किया।  

हार्वेस्टर की चाबी प्रदान करते श्री श्री रविशंकर एवं कृषि मंत्री श्री सचिन यादव।

किसानोंको हार्वेस्टर की चाबी भी प्रदान की। 22-22 लाख रूपये के इस हार्वेस्टर पर प्रदेश सरकार ने प्रत्येक किसान को 8 लाख 60 हजार रूपये का अनुदान भी प्रदान किया है। 

उपस्थित अतिथियों ने भी किया स्वागत 

श्री श्री रविशंकर का स्व. सुभाष यादव की धर्मपत्नी श्रीमती दमयंती यादव, मध्यप्रदेश विधान सभा की उपाध्यक्ष सुश्री हिना लिखिराम कांवरे, विधायकों सचिन बिरला, केदारसिंह डाबर, नारायण पटेल, श्रीमती सुमित्रा कास्डेकर, पाचीलाल मेढ़ा, विशाल पटेल, रामलाल मालवीय, संजय शुक्ला, मनोज चौधरी, रामलाल मालवीय, अपेक्स बैंक के प्रशासक अशोक सिंह, कलेक्टर गोपाल डाड, पुलिस अधीक्षक सुनील पाण्डे, किसान कल्याण और कृषि विभाग के संयुक्त संचालक रेवासिंह सिसोदिया , उपसंचालक खरगोन एम.एल. चौहान, संचालनालय के श्री कमल यादव, झाबुआ के श्री नगीन सिंह रावत, रतलाम के श्री ज्ञान सिंह मोहनिया, धार के श्री आर.एल. जामरे, बड़वानी के श्री के.एस. खपेडिय़ा, खंडवा के श्री आर.एस. गुप्ता, इन्दौर के श्री विजय चौरसिया, प्राचार्या सत्राटी श्री एम.एल. वास्केल, परियोजना संचालक आत्मा रतलाम श्री एन.एस. नर्गेश उद्यानिकी विभाग के खरगोन जिले के उपसंचालक के.के. गिरवाल सहित अनेक जनप्रतिनिधि और अधिकारियों ने श्री श्री रविशंकर जी का स्वागत किया। 

देश प्रदेश के विख्यात कृषि वैज्ञानिकों ने भी किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित कर विभिन्न जानकारियॉ दी। किसान कल्याण और कृषि विकास विभाग ने किसानों के लिए नैसर्गिक और जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रदर्शनी और स्टॉल भी  लगाए। 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles