मध्य प्रदेश में चयनित नदियों का पुनर्जीवन

Share On :

revitalization-of-selected-rivers-in-madhya-pradesh

मध्य प्रदेश की वे नदियां जो या तो सूख चुकी हैं अथवा जिनका पानी बारिश के कुछ दिनों बाद ही समाप्त हो जाता है, प्रदेश के 36 जिलों की ऐसी 40 नदियों को सदा नीरा बनाने के लिए उन नदियों के कछार क्षेत्र में जल संरक्षण, संवर्धन का कार्य शुरू किया जा रहा है। पुनर्जीवन के लिए चयनित नदियों का विवरण इस प्रकार है।

जिला : बड़वानी, जनपद : ठीकरी राजपुर, सेंधवा, सेंहगांव, लंबाई (कि.मी.) : 79.26, कैचमेंट का क्षेत्रफल (हे.) : 82684.4, माइक्रोवाटरशेडों की संख्या : 95, सम्मिलित ग्राम पंचायतें : 64, सम्मिलित ग्रामों की संख्या : 90

जिला : बैतूल, जनपद : घोड़ाडोंगरी, बैतूल, लंबाई (कि.मी.) : 66.68, कैचमेंट का क्षेत्रफल (हे.) : 57098.52, माइक्रोवाटरशेडों की संख्या : 41, सम्मिलित ग्राम पंचायतें : 28, सम्मिलित ग्रामों की संख्या : 69

जिला : छतरपुर, जनपद : कट्ठीवाड़ा, बैरागढ़, लौंड़ी, लंबाई (कि.मी.) : 78.67, कैचमेंट का क्षेत्रफल (हे.) : 79330.91, माइक्रोवाटरशेडों की संख्या : 99, सम्मिलित ग्राम पंचायतें : 62, सम्मिलित ग्रामों की संख्या : 109

जिला : छिंदवाड़ा, जनपद : जामई, परासिया, मोहखेड़, लंबाई (कि.मी.) : 90.46, कैचमेंट का क्षेत्रफल (हे.) : 57086.39, माइक्रोवाटरशेडों की संख्या : 45, सम्मिलित ग्राम पंचायतें : 69, सम्मिलित ग्रामों की संख्या : 145

 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles