रोग फैलाती गाजरघास

Share On :

disease-spreading-carrot

पन्ना। कृषि विज्ञान केन्द्र, पन्ना द्वारा गतदिनों गाजरघास उन्मूलन सप्ताह का आयोजन विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से किया गया। केन्द्र के वैज्ञानिकों एवं रावे छात्रों द्वारा परिसर में गाजरघास के पौधे निकालकर सफाई का आयोजन किया। श्री शिवदयाल बागरी, विधायक गुन्नौर के मार्गदर्शन में गाजरघास उन्मूलन का कार्य किया उन्होंने गाजरघास के नुकसान से लोगों को अवगत कराया। डॉ. अशीष त्रिपाठी, प्रभारी वरिष्ठ वैज्ञानिक, कृ.वि.के. पन्ना ने इस अवसर पर गाजरघास से कम्पोस्ट निर्माण की प्रक्रिया पर प्रकाश डाला। ग्राम तिलगुवां में कृषक संगोष्ठी का आयोजन कर कृषकों को गाजरघास से होने वाले नुकसान के बारे में बताया गया। कृषि महाविद्यालय टीकमगढ़ के अधिष्ठाता डॉ. ए. के. सरावगी व डॉ. एस.पी. सिंह, सह प्राध्यापक के मार्गदर्शन में रावे छात्रों ने ग्राम तिलगुवा में गाजरघास उखाड़कर स्वच्छ कृषि का संदेश दिया। डॉ. सरावगी ने गाजरघास की एलर्जी व मानव में होने वाले रोगों पर प्रकाश डाला। डॉ. आर. के. जायसवाल, डॉ. रणविजय सिंह ने गाजरघास नियंत्रण के रसायनिक उपायों पर प्रकाश डाला। डॉ. अशीष त्रिपाठी ने बताया कि मेड़ों पर व रोड किनारे उगी गाजरघास पर 10 प्रतिशत नमक का घोल डालकर नष्ट किया जा सकता है। कार्यक्रम में रावे छात्र के अलावा श्री रितेश बागोरा, श्री हरिहर सिंह व ग्रामीण जनों ने गाजरघास सफाई का कार्य किया। 
 

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles