वीएनआर का अमरूद हुआ लोकप्रिय

Share On :

vnr-guava-became-popular

एमडी ने किया रतलाम क्षेत्र का दौरा

इंदौर। प्रसिद्ध वीएनआर सीड्स कम्पनी रायपुर के एमडी श्री विमल चावड़ा ने गत दिनों छत्तीसगढ़ के कृषकों के समूह के साथ रतलाम जिले के गांवों का दौरा किया और थाई अमरुद वीएनआर किस्म बिही की समस्याओं को जाना। ग्राम रूपाखेड़ा में एक कृषक संगोष्ठी भी आयोजित की गई।

श्री चावड़ा ने कृषक समूह के साथ रतलाम जिले के ग्राम तितरी, करमदी, रूपाखेड़ा, आलनिया गांवों में किसानों के खेतों का दौरा कर  थाई अमरुद वीएनआर बिही प्रजाति की समस्याओं को समझा और इनके संभावित समाधान के बारे में चर्चा की। रूपाखेड़ा में कृषक संगोष्ठी आयोजित की गई जिसमें रतलाम, मंदसौर, झाबुआ और धार जिले के किसान बड़ी संख्या में शामिल हुए। गोष्ठी में कम्पनी के सीईओ श्री शुक्ला ने बताया कि रतलाम और आसपास के मालवा क्षेत्र में थाई अमरुद का बड़े पैमाने पर पौधारोपण हुआ है। 1800 एकड़ से भी ज्यादा क्षेत्रफल में वीएनआर बिही के पौधे लगाए गए हैं। इसका मुख्य कारण यहां की मिट्टी और जलवायु का अनुकूल होना है। इस दौरान वीएनआर की सीताफल की नई प्रजाति मधुर के बारे में बताकर बुकिंग शुरू करने की घोषणा की। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के प्रगतिशील कृषक श्री राजेश चावड़ा ने किसानों के समक्ष खुद के द्वारा विकसित की गई वाटर रिचार्ज की तकनीक को वीडियो और फोटो के जरिए समझाया। छत्तीसगढ़ के किसान समूह को तितरी में स्थापित एमबी वाइनरी और वाइन प्रजाति के अंगूरों की खेती ने आकर्षित किया। एमडी श्री चावड़ा ने रूपाखेड़ा की स्कूल के लिए 5 लाख रुपए का दान देने की घोषणा की।

Share On :

Follow us on

Subscribe Here

For More Articles

Releated Articles